Wednesday, August 21, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
Identify weak links, Shah tells Hry, Maha, Delhi BJP leadersSYL: Centre to hold meet with Haryana, Punjab reps today सीएम की जन आशीर्वाद यात्रा: दिखी टिकटार्थियों में होड़, शक्ति प्रदर्शन के चक्कर में पूर्व विधायक लीलाराम गुर्जर और नरेंद्र गुर्जर के कार्यकर्ताओं में चले लात-घूंसे टिकटार्थियों की भीड़ देख सीएम बोले- एक अनार सौ बीमार, पर एक को ही देंगे टिकट, बाकी मिलकर खिलाओ कमल सीएम की जन आशीर्वाद यात्रा में विधानसभा चुनाव के लिए कैथल में टिकटार्थियों ने किया शक्ति प्रदर्शनहरियाणा की 4 जेलों में शिफ्ट होंगे जम्मू-कश्मीर के बंदी  : जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटने के बाद बंदियों को शिफ्ट करने की तैयारी क्लोज होगी चंडीगढ़ में दर्ज एफआईआर, अग्रिम जमानत की कोशिश कर रहे अफसर पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप घोटाला : रोहतक जिला अदालत में दायर की है याचिका नेशनल हाईवे पर राजनाथ और खट्‌टर की जन आशीर्वाद रैली के बाद अंधेरा कंप्लेंट पर भी हाईवे की हालत में नहीं हो रहा सुधार, अंधेरे में लोग कर रहे सफरPANCHKULA- शहर में अाज से पांच रुपए में अाधा घंटे चला सकेंगे किराये पर लेकर साइकिल
 
National

बीस साल से गलत साबित हो रहे हैं एग्जिट पोल - वेंकैया नायडू , उपराष्ट्रपति

May 20, 2019 10:24 PM

विकेश शर्मा

नई दिल्ली :- उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने एग्जिट पोल के बारे में कहा कि ये वास्तविक परिणाम नहीं हैं।उपराष्ट्रपति ने कहा एक्जिट पोल वास्तविक परिणाम नहीं होते। हमें यह समझना चाहिए।1999 से अधिकतर एक्जिट पोल गलत साबित हुए।नायडू ने गुंटुर में शुभचिंतकों को अनौपचारिक बैठक में मौजूदा आम चुनाव का संदर्भ देते हुए उन्होंने कहा कि हर पार्टी अपनी जीत के बारे में आश्वस्त रहती है। उन्होंने कहा मतगणना के दिन तक हर कोई अपने आत्मविश्वास का प्रदर्शन करता है इसके लिए कोई आधार नहीं होता। इसलिए हमें 23 तारीख तक इंतजार करना चाहिए। नायडू ने कहा, देश और राज्य को एक कुशल नेता और स्थिर सरकार की जरूरत होती है चाहे जो हो, बस इतना ही। उपराष्ट्रपति ने कहा कि समाज में बदलाव राजनीतिक दलों में बदलाव के साथ होना चाहिए। गौरतलब है कि पोल ऑफ पोल्स के अनुसार केंद्र में एक बार फिर मोदी सरकार की वापसी हो रही है। पोल ऑफ पोल्स के अनुसार बीजेपी गठबंधन को 300 से अधिक सीटें मिलती दिख रही हैं।वहीं, यूपीए 122 और अन्य 118 सीटों पर सिमटते दिख रहे हैं। 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी 435 सीटों पर लड़ी है और बाकी सीटें उसने सहयोगियों के साथ बांटी हैं। जबकि कांग्रेस कुल 420 सीटों पर चुनाव लड़ी है। बीजेपी की अगुवाई में एनडीए में इस बार 21 पार्टियां शामिल हैं। बिहार में उसको नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू के आने से मजबूती मिली है और वोट प्रतिशत के हिसाब से उसका पलड़ा भारी है। वहीं यूपीए में इस बार कांग्रेस की अगुवाई में 25 पार्टियां शामिल हैं।

Have something to say? Post your comment