Wednesday, July 24, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
कर्नाटक: BJP कार्यालय के बाहर भारी पुलिस बल तैनातपाकिस्तान से PoK पर बात होगी: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंहमध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ की Z कैटेगरी की सुरक्षा बरकरार रहेगीदिल्ली के सदर बाजार में 5 मंजिला इमारत गिरी, कोई हताहत नहींपंजाब: जिलाधिकारियों को नोटिस जारी, अगले 3 दिन राज्य में भारी बारिश के लिए तैयार रहने को कहाहरियाणा लोक। सेवा आयोग का एग्जाम जो आज होना था वो एक दिन पहले खट्टर सरकार ने कैंसल कर दिया:करण सिंह दलालहरियाणा किलोमीटर स्कीम के घोटाले को लेकर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल,उनके मंत्री और बड़े अफ़सर के खिलाफ हम हाई कोर्ट में जाएंगे और उनको सजा दिलवाकर चैन से बैठूंगा:करण सिंह दलालहरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल भष्टाचार में संग्लन है:करण सिंह दलाल
 
Haryana

Haryana scam cashes in on the terminally ill

May 15, 2019 05:51 AM

COURTESY HT MAY 15

Snigdha Poonam and Leena Dhankhar ■ letters@hindustantimes.com
Haryana scam cashes in on the terminally ill
NEW DELHI/HISAR/SONEPAT: When Ajit Singh died in Haryana’s Rohtak on April 1, 2018, everyone chalked it up as a tragic road accident. His family, the police, and the post-mortem report all reached the same conclusion: a car hit him from behind. After all, he was just one of 150,000 people who die in road accidents in India every year.


There was nothing suspicious, save for one thing. Days before he was killed, Singh signed up for personal accident insurance policy with at least four companies, at an average premium of ~5,000. An “accidental death” would entitle his nominee to at least ~25 lakh from one.

Singh wasn’t the only one. Between 2017 and 2018, insurance agencies in Haryana received a stream of personal accident claims involving farmers from villages cutting a wide swathe through the state. There was a strange common link in the claims.

These farmers were mostly middle-aged men with no insurance history, they bought policies just months or days before their deaths, they got their first bank accounts and PAN (permanent account number) cards at around the same time, and most of them died in road accidents.

That wasn’t all. At times, the same car hit two walking farmers in different districts, and the accidents were reported to the same small group of police stations. Suspicious, the agencies began internal probes that all arrived at an extraordinary conclusion: accidents didn’t kill these farmers, cancer did.

Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
हरियाणा लोक। सेवा आयोग का एग्जाम जो आज होना था वो एक दिन पहले खट्टर सरकार ने कैंसल कर दिया:करण सिंह दलाल
हरियाणा किलोमीटर स्कीम के घोटाले को लेकर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल,उनके मंत्री और बड़े अफ़सर के खिलाफ हम हाई कोर्ट में जाएंगे और उनको सजा दिलवाकर चैन से बैठूंगा:करण सिंह दलाल
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल भष्टाचार में संग्लन है:करण सिंह दलाल
चंडीगढ़:करण सिंह दलाल ने हरियाणा किलोमीटर स्कीम को लेकर खट्टर सरकार पर निशाना साधा
कुलदीप बिश्नोई के डायमंड कारोबार को लेकर घर और प्रतिष्ठानों पर छापे
गुरुग्राम: छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम रमन सिंह सीने में दर्द की शिकायत के बाद अस्पताल में भर्ती PANIPAT - मॉडल टाउन के पॉल ट्रांसपोर्टर घराने को मिला था प्रदेश में 60 बसें चलाने का ठेका, 20 के रेट में धांधली का केस दर्ज हरियाणा उच्च शिक्षा परिषद के अध्यक्ष बीके कुठियाला भगोड़े घोषित KALKA-अवैध कॉलोनी के लिए काटी डीपीसी, फिर भी नहीं सुधरा भू-माफिया विजिलेंस का खुलासा... पंचकूला में किलोमीटर स्कीम मामले में सरकार को दिया धोखा, सेक्टर-8 की कंप्यूटर शॉप रडार पर, अफसरों से डिसकस किया था रेट, बस ऑपरेटरों से मिलकर भरे थे रेट