Wednesday, May 22, 2019
Follow us on
Haryana

भाजपा नेता रमेश पर अवैध हथियार रखने के आरोप पुलिस ने हटाए, एक दिन बाद ही थाने से मिली जमानत

May 14, 2019 05:43 AM

COURTESY DAINIK BHASKA RMAY 14

भाजपा नेता रमेश पर अवैध हथियार रखने के आरोप पुलिस ने हटाए, एक दिन बाद ही थाने से मिली जमानत
बूथ कैप्चरिंग विवाद में पुलिस ने मारा यूटर्न, कांग्रेस का आरोप- मंत्री को बचाने में जुटी

झज्जर रोड के एक पोलिंग बूथ पर विवाद मामले में नया मोड़ आ गया है। इस मामले में गिरफ्तार भाजपा नेता रमेश बोहर को सोमवार को थाने से ही जमानत मिल गई। इससे पहले पुलिस की आेर से रविवार को दर्ज हुए केस में रमेश बोहर से कई संगीन धाराएं हटा ली गईं। जबकि इस मामले में उनके साथ गिरफ्तार हुए मकड़ौली के सुनील से कोई धारा नहीं हटाई गईं।
पुलिस ने रमेश बोहर और सुनील के खिलाफ रविवार को आईपीसी सेक्शन 188, 34, 420, 483, 54, 59 और धारा-24 के तहत एफआईआर दर्ज की थी। अब मामले में रमेश बोहर के खिलाफ सेक्शन 188 के तहत ही केस दर्ज है। शस्त्र अधिनियम और वाहनों के फर्जीवाड़े के आरोप उन से हटा लिए गए हैं। सुनील को ही इन सभी का आरोपी बनाया गया है। दूसरी ओर रमेश बोहर को पुलिस बेल मिलने के बाद राजनीति भी गरमा गई है। कांग्रेस ने सीधे पुलिस पर मंत्री मनीष ग्रोवर को इस मामले में बचाने के लिए रमेश बोहर से धाराएं हटाने की बात कही है। वहीं पुलिस के आला अधिकारी इस बारे में कुछ भी बोलने से बच रहे।
भास्कर फॉलोअप
13 मई को प्रकाशित खबर।
बार प्रधान ने दी एक और शिकायत, मंत्री ग्रोवर पर भी आरोप : जिला बार एसोसिएशन के प्रधान लोकेंद्र फौगाट ने सोमवार को भी एसपी जश्नदीप रंधावा को शिकायत दी। इसमें उन्होंने मंत्री मनीष ग्रोवर पर भी आरोप लगाए हैं। अपनी शिकायत में जोजो ने कहा है कि सहकारिता मंत्री ने रमेश बोहर के साथ मिल बूथ कैप्चर कराने का प्रयास किया और जान से मारने की धमकी दी। हालांकि देर रात तक पुलिस ने इस मामला दर्ज नहीं किया था।
1 दिन पहले एडीजीपी विर्क ने ट्वीट कर थपथपाई थी रोहतक पुलिस की पीठ
लोस चुनाव के दौरान पुलिस की भूमिका पर एडीजीपी लॉ एंड ऑर्डर नवदीप सिंह विर्क ने खुद ट्वीट कर रोहतक पुलिस की पीठ थपथपाई थी। इस ट्वीट में उन्होंने रमेश लोहार और उसके साथी के पास से अवैध हथियार मिलने की बात लिखी थी। एक दिन बाद ही रोहतक पुलिस ने इस मामले को यूटर्न दे दिया। पुलिस सूत्रों के अनुसार हिरासत में लिए सुनील मकड़ौली ने पुलिस को एफिडेविट दिया है कि बरामद हथियार और गाड़ियां उसकी हैं। रमेश का इनसे संबंध नहीं। इसी आधार पर पुलिस ने रमेश से धाराएं हटाई और उसे जमानत मिली। कानून के जानकारों के अनुसार रमेश के ऊपर उसे कई गंभीर धाराएं हटने के बाद मंत्री ग्रोवर के खिलाफ दी शिकायतों का आधार कमजोर हुआ है।
चौकी इंचार्ज की शिकायत पर दर्ज किया था केस
रविवार को लोस चुनाव में मतदान के दौरान काठमंडी स्थित विश्वकर्मा स्कूल में सहकारिता मंत्री के साथ कांग्रेस नेता बीबी बतरा का विवाद हुआ था। तब रमेश बोहर मंत्री ग्रोवर के साथ ही था। कांग्रेस ने मनीष ग्रोवर पर बूथ कैप्चरिंग का आरोप लगाया था। वहीं जिला बार प्रधान लोकेंद्र फौगाट जोजो ने रमेश बोहर के खिलाफ जान से मारने की धमकी देने की शिकायत दी थी। बाद में पुलिस ने रमेश बोहर को उसके साथी सुनील मकड़ौली के साथ गिरफ्तार किया था। चौकी इंचार्ज के बयान पर दोनों पर केस दर्ज हुआ था। सोमवार को इस मामले में रमेश बोहर को जमानत मिल गई। वहीं बार प्रधान की शिकायत पर कोई केस दर्ज नहीं किया गया है।
पुलिस ने सरकार के दबाव में धारा बदली, कोर्ट में लगाएंगे बेल कैंसिल की अर्जी : बार एसोसिएशन के प्रधान लोकेंद्र फौगाट जोजो का कहना है कि सरकार के दबाव में पुलिस ने रमेश पर लगी धाराएं हटा उसे पुलिस बेल दे दी है। वो इस संबंध में मंगलवार को सेशन कोर्ट में जाएंगे और बेल कैंसिल करवाने की अर्जी लगाएंगे। बार प्रधान जोजो ने कहा कि मामले में पुलिस मंत्री ग्रोवर को बचाने के लिए ऐसा कर रही है। सरकार के दबाव में पुलिस अपराधियों को छोड़ रही है

 
Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
मीडिया मैंनेजमैंट - चुनावी नतीजे HARYANA- खनन माफिया ने पुलिस और सिंचाई विभाग की टीमों को बंधक बनाकर दी धमकी, बोले- दोबारा दिखे तो जिंदा नहीं जा पाओगे कांग्रेस की चिट्‌ठी पर निर्भर करेगा किरण का नेता प्रतिपक्ष बनना, स्पीकर ने मांगा पार्टी का प्रस्ताव HCS EXAM RESULT-जनरल कैटेगरी की कटऑफ 130.31 और ईएसएम एससी की सबसे कम 72.01 रही खनन माफिया ने पोकलेन मशीन से खोद डाली 10 फुट गहरी जमीन खनन अधिकारी की शिकायत पर केस दर्ज AMBALA-हर माह Rs.1.26 करोड़ खर्च, 1100 में से 200 स्वीपर रोजाना मार रहे फरलो, विज कराएंगे घोटाले की जांच Haryana FORMER MLA faces two fresh FIRS for forging docs in 2009 HARYANAStray cattle count up, gaushalas in Haryana reel under space shortage, fund crunch FridaysForFuture: Gurgaon students join global stir against climate crisis Haryana performs better than Punjab on key fiscal parameters