Monday, July 22, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग पर कांग्रेस ने लिया क्रेडिट, याद दिलाया नेहरू-मनमोहन का योगदानखाप पंचायत का फैसला, जाति व्यवस्था के खात्मे के लिए गांव के नाम को बनाएं सरनेममुंबई: बांद्रा में MTNL बिल्डिंग में लगी आग, छत पर फंसे 100 से ज्यादा लोगचंद्रयान- 2 की सफलता के लिए इसरो के वैज्ञानिकों और देशवासियों को बधाई:मनोहर लाल मुख्यमंत्री, हरियाणाचंद्रयान- 2 की सफलता के लिए ISRO के वैज्ञानिकों और देशवासियों को बधाई: सीएम कमलनाथचंद्रयान- 2 के प्रक्षेपण पर इसरो के वैज्ञानिकों को बधाई: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंहचंद्रयान- 2 का ऐतिहासिक प्रक्षेपण सभी भारतीयों के लिए गर्व का क्षण: राष्ट्रपति राम नाथ कोविंदपीएम मोदी चंद्रयान-2 की सफल लॉन्चिंग पर सेलिब्रेट करते हुए
 
Haryana

14 साल बाद सावित्री जिंदल ने भजन के पोते भव्य काे दिया जीत का मंत्र हिसार|

April 23, 2019 06:37 AM


COURTESY DAINIK BHASKAR APRIL 23
कांग्रेस प्रत्याशी के नामांकन के दौरान भीड़ के चलते अव्यवस्थाएं

लोकसभा चुनाव की नामांकन प्रक्रिया के छठे दिन साेमवार काे कांग्रेस के प्रत्याशी भव्य बिश्नाेई समेत 9 उम्मीदवाराें ने नामांकन किया। कांग्रेस उम्मीदवार के नामांकन दौरान भीड़ के चलते अव्यवस्थाअाें काे लेकर लाेगाें काे ट्रैफिक जाम झेलना पड़ा। ट्रैक्टर पर सवार उम्मीदवार के साथ कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अशाेक तंवर, कुलदीप बिश्नाेई सहित अन्य नेताअाें के काफिले के पीछे दर्जनाें गाड़ियां दिखाई दीं। इस काफिले के चलते लाेगाें काे राजगढ़ रोड पर जाम की दिक्कत झेलनी पड़ी। 11 बजकर 20 मिनट पर कांग्रेस पार्टी कार्यालय से शुरू हुअा समर्थकाें का काफिला एक घंटे में लघु सचिवालय तक पहुंचा। इस भीड़ में राजगढ़ राेड पर जाम लग गया, जिसमें लाेग फंसे दिखाई दिए। इसके चलते लोग दूसरे रास्ते तलाशते रहे। ऐसे में मोहल्लों की तंग गलियों में भी जाम लग गया। वहीं लघु सचिवालय में भी कुछ अव्यवस्थाएं दिखीं।
लघु सचिवालय कैंपस में समर्थक नामांकन कक्ष तक न पहुंचे इसलिए पुलिस ने तीन बेरिकेडिंग लगाए मगर कांग्रेसी समर्थकाें के अागे बेरिकेडिंग भी फेल दिखाई दिए। यहां पहले नाके पर पुलिस समर्थकाें काे राेकने का प्रयास कर ही रही थी कि तब तक समर्थक शहीद स्मारक की बाउंड्री पर चढ़ गए, पुलिस ने मशक्कत कर उन्हें उतारा। फिर कांग्रेस नेता कुलदीप बिश्नाेई के साथ कई समर्थक लघु सचिवालय कैंपस में दाखिल हाेने लगे मगर पुलिस ने राेक लिया। फिर भी समर्थक दूसरे अाैर तीसरे बेरिकेडिंग काे पार करते हुए नामांकन परिसर के पास पहुंच गए। यहां नामांकन कक्ष में सिर्फ 5 लाेगाें के ही जा सकते हैं एेसे में समर्थकाें काे पुलिस ने कक्ष में जाने से राेक लिया।
राजगढ़ रोड पर फव्वारा चौक से लघुसचिवालय तक लगा जाम, सेक्टर और मोहल्ले के रास्ते से निकलना चाहा तो वहां भी रही भीड़
भव्य कराेड़पति हैं, मगर न जूलरी, न ही वाहन : कांग्रेस उम्मीदवार भव्य बिश्नाेई 3 कराेड़ रुपये से अधिक की चल-अचल संपत्ति रखते हैं, अाॅक्सफाेर्ड से कंटेंपररी इंडिया विषय में एमएससी की पढ़ाई की है। मगर कराेड़पति हाेने पर भी न ताे इनके पास एक भी जूलरी अाैर न ही वाहन। वहीं सरकारी बकाया के रूप में 58 हजार रुपये का जीएसटी बकाया है।
सोमवार को 9 ने किया नामांकन
लोकसभा चुनाव-2019 के हिसार संसदीय क्षेत्र से नामांकन के छठे दिन आज 9 प्रत्याशियों ने रिटर्निंग अधिकारी एवं जिला उपायुक्त अशोक कुमार मीणा के समक्ष अपने नामांकन पत्र दाखिल किए।
1. हिसार के मिर्जापुर रोड स्थित न्यू गीता काॅलोनी से भारतीय जनराज पार्टी प्रत्याशी 27 वर्षीय दारा सिंह पुत्र महावीर सिंह।
2. भिवानी के गांव जमालपुर से सपाक्स पार्टी के प्रत्याशी 25 वर्षीय साहिल पुत्र रमेश ठकराल।
3. हिसार शहर निवासी बहुजन समाज पार्टी प्रत्याशी 58 वर्षीय सुरेंद्र पुत्र जय गोपाल।
4. मंडी आदमपुर से कांग्रेस प्रत्याशी 26 वर्षीय भव्य बिश्राई पुत्र कुलदीप बिश्रोई।
5. पुट्ठी मंगलखां से 50 वर्षीय निर्दलीय प्रत्याशी मांगेराम पुत्र रामस्वरूप।
6. गांव सुलखनी निवासी 26 वर्षीय निर्दलीय प्रत्याशी सलीम दीन पुत्र निहाल दीन।
7. नारनौंद के गांव कौथ कलां निवासी इनेलो प्रत्याशी 50 वर्षीय सुरेश पुत्र दलीप।
8. नारनौंद के गांव कौथ कलां निवासी कमलेश पत्नी सुरेश।
9. नरवाना के गांव खेड़ा गोंडावाला से प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के प्रत्याशी शशि भारत भूषण पुत्र रतन सिंह ने अपने नामांकन दस्तावेज प्रस्तुत किए।
नाेट-हिसार सीट से पर्चे भरने वालों की संख्या 19 हो गई है।
एक घंटे तक काफिले में फंसे रहे लाेग, तीन बेरिकेडिंग काे पार करके नामांकन परिसर तक पहुंचे समर्थक
साेमवार दाेपहर भव्य बिश्नाेई के नामांकन प्रक्रिया के दौरान कांग्रेस भवन से लेकर राजगढ़ राेड पर सचिवालय तक जाम की स्थिति बनी रही।
2005 के चुनाव में भजन और ओपी जिंदल में थी खटास, 14 साल बाद सावित्री जिंदल ने भजन के पोते भव्य काे दिया जीत का मंत्र
हिसार| सियासत में न कोई किसी का दाेस्त अाैर न काेई किसी का दुश्मन। इसका स्पष्ट उदाहरण साेमवार शाम काे जिंदल हाउस में तब देखने मिला, जब सावित्री जिंदल के घर पर कुलदीप बिश्नाेई अपने पूरे परिवार के साथ पहुंचे। हालांकि दाेनाें परिवाराें के बीच मेयर चुनाव के दाैरान ही राजीनामा हाे गया था, लेकिन अब बात सीधे भजन परिवार से जुड़ी है। मेयर चुनाव की सांझा उम्मीदवार रेखा एेरन भी इस दाैरान माैजूद रहीं। 2005 में विधानसभा के अाम चुनाव में अाेमप्रकाश जिंदल हिसार से कांग्रेस प्रत्याशी के ताैर पर मैदान में थे। जबकि हरिसिंह सैनी बताैर अाजाद उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे थे। मजे की बात यह थी कि उस समय चाै. भजनलाल प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष थे अाैर मुख्यमंत्री पद के लिए ठाेस दावेदारी भी थी। लेकिन भजन-जिंदल में पुरानी खटास के चलते खेल एेसा बिगड़ा कि भजनलाल अाैर अाेपी जिंदल के बीच दूरियां बढ़ती ही चली गई थीं। मामला हार्इकमान तक भी पहुंच गया, लेकिन काेर्इ असर नहीं हुअा। चुनाव परिणाम के बाद अाेपी जिंदल लगभग 10 हजार वाेटाें से जीतकर विधायक बने अाैर हरिसिंह सैनी हार गए थे। बाद में साेनिया गांधी ने भजनलाल के बजाय भूपेंद्र हुड्डा काे सीएम बनाया व अाेपी जिंदल बिजली मंत्री बने थे। हाईकमान के इसी फैसले से भजनलाल परिवार कांग्रेस से अलग हाे गया था।
जिंदल हाउस पर साेमवार शाम काे कुलदीप बिश्नाेई अपने पूरे परिवार के साथ सावित्री जिंदल से आशीर्वाद लेने पहुंचे।
सावित्री बाेलीं : कुछ कारण थे मनमुटाव के, जाे दूर हाे गए
सावित्री जिंदल ने कहा कि 2005 के दाैरान कुछ एेसे हालात बन गए थे, जिसमें दाेनाें परिवाराें के बीच मुनमुटाव अा गया था। लेकिन अब स्थिति बेहतर है। मेयर चुनाव में दाेनाें परिवाराें ने मिलकर रेखा एेरन के लिए वाेट मांगे थे। अब चूंकि कुलदीप के बेटे भव्य बिश्नोई खुद कांग्रेस से मैदान में हैं ताे दाेनाें परिवार मिलकर भव्य काे भारी मताें से जिताकर संसद में भेजेंगे। इससे पहले कुलदीप बिश्नोई अाैर भव्य बिश्नोई ने सावित्री जिंदल से अाशीर्वाद लेकर समर्थकाें काे संबाेधित किया।
लघु सचिवालय में कांग्रेस प्रत्याशी के नामांकन के दाैरान पहले नाके पर बाउंड्री पर चढ़े हुए समर्थकाें काे उतारती पुलिस।
तंवर बाेले - अगर कुलदीप मजबूत हाेते ताे पार्टी उन्हें टिकट देती विश्लेषण के बाद भव्य काे चुना
हिसार| भव्य बिश्नाेई के नामांकन के दौरान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अशाेक तंवर भी माैजूद रहे। उनसे जब पूछा गया कि कांग्रेस पार्टी ने कुलदीप काे टिकट न देकर भव्य काे क्याें दी ताे इस पर तंवर ने कहा कि कुलदीप बिश्नाेई हिसार सीट के लिए मजबूत हाेते ताे पार्टी उन्हें टिकट देती मगर पार्टी ने काफी विश्लेषण के बाद युवा चेहरे काे टिकट दी है। युवाअाें की 65 प्रतिशत अाबादी है, एेसे में युवाअाें काे महत्ता दी गई है। मगर उनके इस बयान से समर्थक भी हैरान दिखे। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष से जब पूछा गया कि क्या कांग्रेस ने पूर्व सीएम हुड्डा काे साेनीपत से सीट देकर फंसा दिया है, यानि कांटा निकालने की दलीलें दी जा रही है, अाैर यह काम पार्टी के भीतर ही चर्चा का विषय बना हुअा है...इस पर तंवर बाेले कि कि एेसा बात वही लाेग बाेलते हैं जाे खुद एक दूसरे का कांटा निकालने में लगे हुए हैं। भाजपा काे इस बार माैका है जिस जिस का जाे जाे निकालना है वह निकालें।

Have something to say? Post your comment