Saturday, July 20, 2019
Follow us on
 
Haryana

PANCHKULA-बेहतर इक्विपमेंट रखने का दावा करने वाली फायर ब्रिगेड के पास नहीं मिली 25 से 30 फीट की पाइप

April 16, 2019 07:17 AM


COURTESY DAINIK BHASKAR APRIL 16



एमडीसी के चार शोरूमों की बेसमेंट में घुसा पानी
बेहतर इक्विपमेंट रखने का दावा करने वाली फायर ब्रिगेड के पास नहीं मिली 25 से 30 फीट की पाइप

एमडीसी स्थित स्वास्तिक विहार मार्केट में सोमवार सुबह उस समय हंगामा हो गया जब चार शोरूमों की बेसमेंट में कई फुट पानी भर गया। दवाइयों की पैकिंग, कम्प्यूटर और फाइलें पानी में तैर रही थी। दुकानदारों ने पंचकूला फायर ब्रिगेड को सूचना दी।
मौके पर फायर ब्रिगेड की टीम आई तो सही, लेकिन पानी निकालने के पाइप न होने के कारण जवाब देकर चली गई। सोमवार शाम तक कई व्यापारी यहां चार शोरूमों की बेसमेंट से 6-6 फुट पानी निकालने में लगे रहे। कई कंपनियों के ऑफिस में घुसे पानी के कारण लाखों रुपए का नुकसान हुआ है। इसके बाद एक पड़ोसी शोरूम मालिक के खिलाफ पुलिस में भी शिकायत दी गई है।
पड़ोसी पर आरोप, तोड़ी गई पानी की सप्लाई की पाइप -
यहां दुकानदारों ने आरोप लगाया कि एक पड़ोसी के शोरूम में कंस्ट्रक्शन चल रही है। इस शोरूम के मालिक पर आरोप है कि उन्होंने पानी के कनेक्शन के लिए या किसी अन्य काम के लिए पानी के पाइप से छेड़छाड़ की थी। इस कारण पाइप टूट गई। इस बारे में इस पड़ोसी को रात को ही पता चल गया था, लेकिन किसी को नहीं बताया। सोमवार तड़के पानी की सप्लाई होने के चलते शोरूमों में पानी भर गया। पानी की लाइन इन शोरूमों की बिल्कुल ही बैक साइड में मात्र 5 फुट की गहराई पर डली हुई है। यहां छह इंची पाइप लाइन टूट गई थी। इस कारण सुबह पानी सप्लाई में दिक्कत आई। शाम तक पाइप जोड़ दी गई थी।
पुलिस को दी गई मामले की शिकायत : इस बारे में कई लोगों की ओर से एमडीसी पुलिस थाने में शिकायत दी गई है। इसमें पानी के कारण और नुकसान के बारे में बताया गया है। इसमें कहा गया है कि एक शोरूम मालिक के कारण उनका लाखों रुपए का नुकसान हुआ है। सुबह से शाम तक व्यापारियों की कई बार आपस में बहस भी हुई। आसपास के लोगों ने माहौल को ठंडा करवाया।
फायर ब्रिगेड स्टाफ बाेला-पाइप नहीं शाम तक पानी निकालते रहे व्यापारी
: इंश्योरेंस कंपनी, सीए और मेडीकल कंपनी का लाखों का सामान हुआ खराब
: 4 शोरूमों की बेसमेंट में घुसा 6-6 फीट तक पानी, अंदर रखा सारा सामान हो गया खराब। दवाइयां की पैकिंग धूप में डालनी पड़ी।
: यह हुआ नुकसान ... स्वास्तिक विहार मार्केट में शोरूम नंबर 24, 25, 26, 26ए की बेसमेंट में पानी घुसा है। यहां शोरूमों की बेसमेंट कई जगह पर तो कैबिन को बनाकर इंश्योरेंस कंपनी, इवेंट्स कंपनी, सीए, ऑटोमेशन कंपनी के ऑफिस थे। एक बेसमेंट मेडिकल कंपनी का स्टोर था। इसमें करोड़ों की कीमत का स्टॉक था, जिसे शाम तक बाहर निकाल, धूप में सुखाया जा रहा था।
: सारा सामान खराब होगया ...
मयंक गुप्ता ने बताया कि यहां खुद का शोरूम है। बेसमेंट में कई कैबिन रेंट पर है। दो में उनका खुद का सीए का ऑफिस है। उनके यहां बेसमेंट में करियर कंपनी, इवेंट्स मैनेजमेंट कंपनी, ऑटोमेशन कंपनी के ऑफिस हैं। इसमें रिकॉर्ड के साथ साथ सभी के कंप्यूटर, सामान भी शामिल था। कई कई फुट पानी जमा होने के कारण सारा सामान खराब हो चुका है। पूरा रिकॉर्ड ही खराब हो गया है।
: 6-6 फुट पानी जमा हो गया...शोरूम नंबर 85 की बेसमेंट सबसे ज्यादा पानी भरा है। यहां 6-6 फुट पानी जमा हो गया। यहां इंश्योरेंस कंपनी का आॅफिस है। 25 से ज्यादा कम्प्यूटर, रिकॉर्ड सहित बाकी सामान भी नीचे पानी भरा रहा। कई घंटे तक इस पानी को निकालने के लिए कोई इंतजाम ही नहीं हो पाया है। सलेक्ट टेक्नीकल सर्विसेज कंपनी के ऑफिस का सारा सामान पानी पर तैर रहा था। कंपनी के मालिक गोपाल कृष्ण ने बताया कि उनका 20 से 25 लाख रुपए का नुकसान हुआ है।
: कंपनी मालिक टेंशन में...सबसे ज्यादा नुकसान फार्मा कंपनी के स्टोर में हुआ है। यहां पूरी बेसमेंट में लाखों रुपए का स्टॉक पड़ा हुआ था। ये स्टॉक पानी में पड़ा रहा। इसके बाद उसे सुबह से शाम तक बाहर निकाला गया और उसके बाद धूप में सुखाया गया। कंपनी के मालिक को टेंशन हो गई, जिसके बाद उन्हें यहां उनका परिवार ले गया। यहां लाखों रुपए की दवाइयां बाहर रोड पर पड़ी रही। इसमें से ज्यादा तो खराब ही हो गई। क्योंकि पैकिंग को जैसे ही पानी लगा तो वो खराब हो गई। इस दौरान यहां लाखों रुपए का नुकसान हुआ है।
: सोमवार को मार्केट बंद होने के कारण भी हुई परेशानी ... सोमवार सुबह ही फायर ब्रिगेड को इस बारे में कॉल की गई। इसके बाद फायर ब्रिगेड की गाडी मौके पर आई और यहां मौका देखकर कहा गया कि इतना बड़ा पाइप पानी को बाहर निकालने के लिए हमारे पास है ही नहीं। पूरी मार्केट के व्यापारी यहां जमा हो गए और बोले टैक्स देने के लिए व्यापारी है, लेकिन कैसी सरकार, कैसा प्रशासन कि फायर ब्रिगेड में पाइप ही नहीं होते। जब फायर ब्रिगेड के बाद लोग मार्केट पाइप या अन्य सामान लेने के लिए गए तो वहां भी कोई सामान टाइम पर नहीं मिला। क्योंकि सोमवार होने के कारण मनीमाजरा की ज्यादातर बंद थी। इस कारण शाम तक पानी को बड़ी ही परेशानी से निकाला गया

Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
अगले 2 घंटे में हरियाणा के कई हिस्सों में गरज के साथ हो सकती है बारिश
HARYANA-क्या एस.पी. कर सकता हैं ज़िले के भीतर पुलिस कर्मियों का तबादला ?
ग्रुप-सी के 4 हजार कर्मचारी बनना चाहते हैं एचएसीएस, परीक्षा 24 को HARYANA-राज्य में फिर कमजोर पड़ा माॅनसून, अब अगले सप्ताह होगा सक्रिय 75% सूबे में बरसात की कमी, पांच दिन करें इंतजार 7672 कराेड़ के फर्जी बिलों पर 660 कराेड़ का फ्रॉड, सिरसा का मास्टरमाइंड अनुपम गिरफ्तार -हरियाणा में कॉटन के नाम पर सबसे बड़े जीएसटी फर्जीवाड़े का पर्दाफाश जेबीटी-पीआरटी को ऑनलाइन देना होगा 22 जिलों का विकल्प, कहीं भी हो सकता है ट्रांसफर HARYANA-दल-बदल विधायकों का मामला चारों विधायकों के जवाब में 'ही' और 'सी' का ही ज्यादा फर्क, सभी ने एक जैसे ही दिए जवाब Alwar lynching victim’s family waits for justice Defiant Naina says she never indulged in anti-INLD activity HARYANA-Breach in Sirsa village too