Monday, June 17, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
भाजपा राज में सबसे ज्यादा युवा बेरोजगार, नौकरियों में धांधली और सबसे ज्यादा पेपर लीक हुए - दुष्यंत चौटालाआज से नए आयकर नियम; डिफाल्टर सिर्फ जुर्माना देकर बच नहीं सकतेJ& K के पुलवामा में सेना के काफिले पर आतंकी हमला,WEST BENGAL -डॉक्टरों ने खत्म की हड़ताल,CHENNAI-No hotel, IT firm in Chennai shut down due to drinking water scarcity:सुप्रीम कोर्ट सरकारी अस्पतालों में डॉक्टरों की सुरक्षा और सुरक्षा की मांग करने वाली याचिका पर कल सुनवाई पिछले सप्‍ताह शनिवार को माता वैष्‍णों देवी की पवित्र गुफा में 47 हज़ार से अधिक तीर्थयात्रियों ने दर्शन किए।बिहार: औरंगाबाद में लू से मौतें, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय को दिखाए गए काले झंडे
National

मोदी ब्रांड - विरोधाभास व अंर्तिर्वरोध

April 01, 2019 05:12 PM

मार्किटिंग की दुनिया में ब्रांड बनाना, उसको बनाये रखना, उसमें वेल्यू एडिशन करना, सब बहुत महत्व की बात होती है , पर नरेन्द्र मोदी जी ने राजनीति में भी अपनी छवि को न केवल बा्रंड के रूप में स्थापित किया है अपितु निरंतर उसमें परिवर्तन भी करते रहे हैं । ’’ चायवाला’’ पिछले चुनाव में उनकी ब्रांड के समान्य व्यक्ति से अपने आपको जोड़ा तो अब 2019 में ’’चौकीदार" 👍अभियान चला, समाज के निम्नतम पिछले पायदान पर खड़े व्यक्ति से जुड़कर राजनीति के बाजार में अपने ब्रांड की वेल्यू बढ़ाई हैं । लेकिन गौर से देखा जाए तो ’’ मोदी ब्रांड में विराधाभास ही विरोधाभास है । सोशल मीडिया के द्वारा उत्पन्न आभासी दुनिया में वर्चस्व कायम करना तो आसान है, पर यथार्थ जीवन में वास्तविक मुददे ही सफलता व विफलता का निर्णय करते हैं । युवाओं के लिए प्ररेणास्पद अंतरिक्ष में ’’ मिशन शाक्ति’’ की एक छोर है तो दूसरे छोर पर ’’पकौड़े बेचने’’ के व्यवसाय की बात करते हैं । हावर्ड के स्थान पर हार्डवर्क को प्राथमिकता देते हैं तो वही ’’ प्रधान सेवक’’ बनाम ’’चौकीदार" बन जाते हैं । एक तरफ तो कहते हैं कि ’’ मैं तो फकीर हूं, खाली झोला लाया था, झोला उठाऊँगा पर चला जाऊँगा’’ वहीं अगर उनके शाही कपड़ों व उनके मंहगे चश्मों की प्रति झुकाव की चर्चा भी चलती रहती हैं । धार्मिक जगत में बड़े-बड़े मठाद्यीशों तथा व्यवसायिक जगत के बड़े बड़े उद्योगपतियों से उनके रिश्तों व उनके निकर के मित्रों को फायदा पहुंचाने का मुददा चर्चा का विषय बना हुआ है । सबका साथ सबका विकास’’ के नारे के साथ आई उनकी सरकार में ही सबसे ज्यादा द्यु्रवीकरण की राजनीति की गई तथा अभी देश व समाज धर्म व जाति के आधार पर जितना बंाटा जा रहा है, उतना पहले कभी भी देखा गया । नरेन्द्र मोदी व अमितशाह की सत्ता में बने रहने की आकांक्षा को मुहम्मद अली जिन्ना के समकक्ष रख कर देखा जा रहा है । मीडिया की स्वतंत्रता व विचारों की स्वतंत्रता अभिव्यक्ति की बात करें,प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी पूरे देश से ’’ अपने मान की बात’’के जरिए या अपने टवीटस द्वारा निरन्तर जनता से तो सम्पर्क में रहे, परन्तु औपचारिक तौर पर उन्होंने पांच सालों में कितनी प्रेस वार्ताएं/संवाददाता सम्मेलन किए उन्हें अंगुलियों पर गिना जा सकता है । पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को ’’मौनी बाबा’’ कहा जाता था पर फितरत से बोलने वाले नरेन्द्र मोदी महतवपूर्ण व संवेदनशील मुददों पर जब जब उनकों अपनी बात रखना आवश्यक था वो मूक रहे । पिछले चुनाव में अपनी टेग लाईन ’’अच्छे दिन आ गये’’ का इस चुनाव में जिक्र तक नहीं करते, जबकि पिछली हर चुनावी सभा में लोगों को अपने साथ इसके नारे लगवाते थे ।

राजनीति की अपनी मांग तथा विवशताएं हो सकती है, पर नेहरू जैकेट पहन, महात्मा गांद्यी को आदर्श मान, कांग्रेस मुक्त भारत की बात करते करते, अपनी पार्टी को केवल जिताने के लक्ष्य से, कांग्रेसियों को अपनी पार्टी में ले, वहीं कांग्रेस नीतियां अपना कर ’’ कांग्रेस युक्त भाजपा’’ बनाई जा रही है । पहले कहते थे कि ’’ प्रेम व युद्ध’’ में हर बात जायज है, आज यह कहना उचित होगा कि चुनाव में तो हर नजायज ही जायज है साधन व उद्देश्य की पवित्रता तो छोड़ो, साधन ही उदे्श्य बन गये हैं । येन, केन, व प्राकरेण जैसे भी हो चुनाव जीतना चाहिए । भारतीय लोकतंत्र के इस चुनावी उत्सव में जो होड़ मची हैं, वह देखते ही बनती है । न केवल राजनीतिज्ञों के लिए, अपितु बड़े बड़े प्रबन्ध व विपणन के विशेषज्ञों के लिए भी यह अघ्ययन व अनुसंद्यान का विषय हो सकता है कि कैसे ब्रांड विरोधाभासों के बावजूद हवा में बनाये जा सकते हैं व भुनाए भी जा सकते हैं । अंत में एक प्रसिद्ध लेखक के ये शब्द ’’ सफल वही है आजकल, वहीं हुआ सिरमौर, जिसकी कथनी और है, जिसकी करनी और, जंगल जंगल आज भी नाच रहे हैं मोर, लेकिन बस्ती में मिले घर-घर आदमखोर, हर कोई हमको मिला, पहने हुए नाकाब, किसको अब अच्छा कहें, किसको कहें खराब ।

                            डा0 क0 कली

 
Have something to say? Post your comment
 
More National News
आज से नए आयकर नियम; डिफाल्टर सिर्फ जुर्माना देकर बच नहीं सकते WEST BENGAL -डॉक्टरों ने खत्म की हड़ताल, CHENNAI-No hotel, IT firm in Chennai shut down due to drinking water scarcity: ममता का पश्चिम बंगाल के हर अस्पताल में नोडल पुलिस ऑफिसर तैनात करने का निर्देश पश्चिम बंगाल: मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मिलने सचिवालय पहुंचे हड़ताली डॉक्टर पश्चिम बंगाल: हड़ताली डॉक्टरों के साथ बैठक के लिए सचिवालय पहुंचीं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भाजपा संसदीय बोर्ड की आज शाम नई दिल्ली में पार्टी मुख्यालय में बैठक होगी। गुजरात में तूफान वायु उत्तर-पूर्व की ओर बढ़ रहा है; मध्य रात्रि को कच्छ तट से टकराने की आशंका । इंदौरः मंत्री की बैठक में एंट्री से रोका, कांग्रेस नेता ने की पुलिसकर्मियों से बदसलूकी Text of PM's Media Statement at the Start of the 17th Lok Sabha