Sunday, May 26, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
*अमेठी- सुरिंदर सिंह हत्या कांड में 2 लोगो की पहचान की गई,5 पर हत्या का केस दर्ज*भारतीय चुनाव आयोग ने लोकसभा चुनावों के मद्देनजर देश मे लगाई गई आचार सहिंता को समाप्त करने की घोषणा कीइराक में तीन फ्रांसीसी आईएस सदस्यों को मौत की सजा सुनाई गईअमेठी: सुरेंद्र सिंह की अंतिम यात्रा में शामिल हुईं स्मृति ईरानीबिहार: हार के बाद RLSP को एक और झटका, JDU में शामिल हुए दोनों विधायकसूत्रों के हवाले से खबर-17वीं लोकसभा का पहला सत्र 5 जून से 15 जून तक होगा30 मई को राष्ट्रपति भवन में शाम 7 बजे नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगेइंजीनियरिंग स्कॉलरशिप टैस्ट में प्रथम आने पर श्रेया गर्ग को मिला लैपटाप
Chandigarh

CHANDIGARH-चुनावी लॉलीपॉप : पीएम के चक्कर में रुका था उद‌्घाटन, अब हो गया लेकिन फिर भी लोगों को नहीं मिली छत

March 04, 2019 06:28 AM


COURTESY DAINIK BHASKAR MARCH 4
2 साल से तैयार मकानों का 8 मिनट में उद‌्घाटन, 100 अलॉटीज को दीं चाबियां, पजेशन मिलेगा दो महीने में-मतलब चुनाव के बाद
चुनावी लॉलीपॉप : पीएम के चक्कर में रुका था उद‌्घाटन, अब हो गया लेकिन फिर भी लोगों को नहीं मिली छत

आखिरकार चंडीगढ़ हाउसिंग बोर्ड (सीएचबी) की ओर से बनाए गए मलोया में स्लम रिहैबिलिटेशन स्कीम के मकानों का उद‌्घाटन रविवार को हो गया। इसे चुनावी लॉलीपॉप ही कहेंगे, क्योंकि ये मकान दो साल से बनकर तैयार हैं, लेकिन उद‌्घाटन लोकसभा चुनाव से ऐन पहले किया गया। मजे की बात तो यह है कि अभी भी अलॉटीज को घर के बजाय चाबी दी गई है, वह भी डमी। इन्हें पजेशन डेढ़ से दो महीने के बाद ही मिलेगा। मतलब कि वोट डलने के बाद।
कोड ऑफ कंडक्ट लगने से पहले उद‌्घाटनों की बाढ़ आई हुई है। मलोया में भी रविवार को उद‌्घाटन समारोह में 100 लोगों को अलॉटमेंट लेटर दिए गए। हालांकि इन्हें अभी इस घर में रहने की इजाजत नहीं है। क्योंकि पजेशन लेटर नहीं मिला है। लेटर मिलने के बाद ही लोग घर के अंदर जा सकते हैं। वहीं, एमपी किरण खेर ने कहा कि जल्द ही अलॉटीज यहां शिफ्ट हो जाएंगे। पजेशन लेटर जल्द दे दिए जाएंगे। कुल 4,960 मकान बनाए गए हैं, लेकिन इनमें फिलहाल 2390 लोग रहेंगे। सीएचबी के अफसरों की तरफ से कहा गया कि जो भी खामियां मकानों में होंगी, उन्हें दूर कर दिया जाएगा।
: अलॉटमेंट लेटर और डमी चाबियां थमा दीं...
: प्रशासक की तबीयत खराब थी... इन मकानों का उद‌्घाटन प्रशासक वीपी सिंह बदनोर ने किया। दोपहर 12 बजे यह उद‌्घाटन होना था और अफसर सुबह 11 बजे ही पहुंचने शुरू हो गए थे। एडवाइजर मनोज कुमार परिदा 11:45 पर पहुंचे और इनके आने के 10 मिनट के बाद सांसद किरण खेर पहुंचीं। 12:20 पर प्रशासक पहुंचे और समारोह शुरू हुआ, लेकिन उद‌्घाटन करने के 8 मिनट के अंदर ही प्रशासक वापस चले गए। मकान की चाबी लेने वाले लोग कम्युनिटी सेंटर के हॉल के अंदर ही बैठे रहे। प्रशासक हॉल के बाहर लगे फाउंडेशन स्टोन का उद‌्घाटन करने के तुरंत बाद चले गए। न तो वे हॉल के अंदर गए और न ही लोगों के लिए बनाए किसी घर को देखा। बाद में किरण खेर ने लोगों को चाबियां सौंपीं। कहा कि प्रशासक की तबीयत खराब है, इसलिए वे चले गए।
कब-कब टला उद‌्घाटन
दिसंबर 2018 में पीएम नरेंद्र मोदी से इन मकानों का उद‌्घाटन करवाया जाना था, लेकिन पीएम के आने की तारीख तय नहीं हुई।
जनवरी 20 तारीख तक इसकी उद‌्घाटन की फिर तैयारियां की गई। लेकिन पीएमओ से कोई जवाब नहीं आया।
फरवरी 2019 में लिखा गया कि अगर नरेंद्र मोदी नहीं आ सकते तो गृहमंत्री राजनाथ सिंह से इसका उद‌्घाटन करवा लिया जाए। इसी बीच भारत-पाकिस्तान के बीच तनाव पैदा हो गया और सबकुछ रद‌्द हो गया।
अब चुनाव नजदीक हैं, इसलिए माइलेज लेने के लिए उद‌्घाटन करवाना ही पड़ा। इस वजह से प्रशासक से इसका उद‌्घाटन करवाया गया।
यह चुनावी स्टंट: कांग्रेस
यह एक चुनावी स्टंट है क्योंकि कितने सालों से यह मकान बनकर तैयार थे लेकिन लोगों को दिए नहीं गए और आज जब देने की बारी आई तो सिर्फ अलॉटमेंट लेटर दे दिया। कांग्रेस चंडीगढ़ के जनरल सेक्रेटरी संदीप भारद्वाज ने कहा कि डमी चाबी देना तो एक तरह से ऐसा लॉलीपॉप को दिखाकर वापस ले लेना है। जब तक चुनाव नहीं हो जाते तब तक बीजेपी लोगों को पजेशन लेटर नहीं देगी क्योंकि वह झुग्गियों को नहीं तुड़वाना चाहती। -प्रदीप छाबड़ा, कांग्रेस
25,728 मकान बनाने हैं
3 दिसंबर 2005 को ऑफिशियली काम शुरू किया गया था। जवाहर लाल नेहरू नेशनल अर्बन रिन्यूअल मिशन स्कीम को तत्कालीन पीएम डॉ. मनमोहन सिंह ने शुरू किया था। इसी स्कीम के तहत फंडिंग होती है। बेसिक सर्विसेज टू द अर्बन पूअर (बीएसयूपी) के साथ स्लम रिहैलिबिटेशन स्कीम को जोड़ दिया गया।
28 नवंबर 2006 को कुल 6,368 फ्लैट्स की सेंक्शन दी गई,
14 दिसंबर 2006 को 19360 मकानों की सेंक्शन दी गई।
मलोया के प्रोजेक्ट को जोड़कर अब तक 6 फेज में कुल 17696 मकान चंडीगढ़ में बनाए गए हैं।
161.18 एकड़ जमीन में फ्लैट बनने हैं मलोया में, कुल 7,936 फ्लैट्स बनाए जाने हैं, 4960 बनाए जा चुके हैं।
एक मकान को बनाने में करीब 4.63 लाख रुपए का खर्चा आया।
पता नहीं कब एंट्री होंगी...
मैं 1985 से काॅलोनी नंबर-4 में रह रहा हूं। मैं तो कल ही शिफ्ट कर जाऊंगा, लेकिन पजेशन लेटर ही नहीं मिला है। -तुलसी राम
मेरे पूरे परिवार को बहुत खुशी है कि अब हमारी पक्की छत होगी लेकिन हम इसमें दाखिल कब होंगे, यह मुझे नहीं पता। -देवी रानी
ट्रिब्यून चौक पर फ्लाईओवर और अंडरपास का भी शिलान्यास, लेकिन...
टेंडर अलॉट होगा 3 महीने में, इसके 2 साल बाद काम होगा कम्प्लीट
बदनोर ने किया शिलान्यास...
चंडीगढ़ | इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट ने शुक्रवार को मिनिस्ट्री ऑफ रोड ट्रांसपोर्ट एंड हाईवे की साइट पर 158 करोड़ से सेक्टर 32-29 राउंड अबाउट से हल्लोमाजरा लाइट पाइंट से 600 मीटर आगे तक फ्लाईओवर, ट्रिब्यून चौक पर अंडर पास बनाने का टेंडर अपलोड किया। रविवार को प्रशासक वीपी सिंह बदनोर से इसका शिलान्यास किया। शिलान्यास के मौके पर सांसद किरण खेर मौजूद रहीं। इस प्रोजेक्ट का टेंडर लग चुका है। तीन महीने में टेंडर अलॉट होगा। इसके बाद काम शुरू होगा। पूरा प्रोजेक्ट कम्प्लीट होने में दो साल लग जाएंगे। लेकिन क्रेडिट लेने के लिए शिलान्यास अभी करवा दिया।
: गडकरी ने कहा- सांसद की वजह से यह हुआ...
शिलान्यास के समय मिनिस्टर ऑफ रोड ट्रांसपोर्ट एंड हाईवे नितिन गडकरी के मैसेज की वीडियो चलाई गई। इसमें गडकरी ने सांसद के प्रयास की प्रशंसा की। कहा कि उन्हीं की वजह से शहरवासियों को ट्रिब्यून राउंड अबाउट के ट्रैफिक जाम से छुटकारा मिल सकेगा।

 
Have something to say? Post your comment
 
More Chandigarh News
किरण खेर ने लगातार दूसरी बार कांग्रेस के पवन बंसल को शिकस्त दी
बॉलीवुड एक्ट्रेस और चंडीगढ़ लोकसभा सीट से बीजेपी उम्मीदवार किरण खेर 5000 वोटों से आगे चंडीगढ़ से किरण खेर आगे चल रही है चंडीगढ़ में 11 बजे तक 18.70 फीसदी वोटिंग चंडीगढ़ में सुबह 9 बजे तक 10.40 फीसदी वोटिंग RWAs oppose MC’s decision on imposing TDS to maintain parks चंडीगढ़ में इस बार दोहरी चुनौती से जूझ रही हैं किरण खेर! CHNAIDGARH-सेक्टर-44 में ज्वेलरी शॉप पर बंधक बनाकर 3 करोड़ की लूट, भाजपा की रैली में बिजी थी पुलिस 38 मिनट के भाषण में उन्होंने न तो किरण खेर का नाम लिया और न ही उनके लिए वोट मांगे। केवल अपने लिए ही वोट करने के लिए लोगों से अपील की ये लोग कहते थे कि भारत में तो बैंक नहीं हैं, ऐसे में डिजिटल लेनदेन कैसे संभव है?: पीएम मोदी