Wednesday, March 20, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
हरियाणा में आउटसोर्सिंगके माध्यम से कार्यरत कर्मचारियों को नौकरी देने के मामले में बहुत बड़ी धांधली - कर्ण सिंह दलालओडिशा के सीएम नवीन पटनायक ने हिंजली विधानसभा सीट से नामांकन भराPM नरेंद्र मोदी ने कहा- चौकीदार शब्द देशभक्ति का पर्याय बन गया हैमहागठबंधन में सीट बंटवारे का ऐलान 22 मार्च को होगा: शरद यादववाराणसी: प्रियंका गांधी के कार्यक्रम के दौरान दो गुटों में मारपीटनामांकन दाखिल करने के अंतिम दिन दोपहर तीन बजे तक डाला जा सकता है मतदाता सूची में नाम पुलवामा अटैक के चलते सीआरपीएफ, बीएसएफ और सेना नहीं मनाएगी होलीफ्लोर टेस्ट से पहले बोले गोवा के सीएम- हम 100 फीसदी जीतेंगे
Haryana

कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि आजादी के बाद देश की रक्षा हेतू अपने प्राणों का बलिदान देने वाले शहीदों की याद में दिल्ली में बना राष्ट्रीय युद्ध स्मारक देश को समर्पित होने जा रहा है। इस स्मारक का उदघाटन प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी 25 फरवरी को करेंगे

February 22, 2019 05:20 PM
हरियाणा के वित्र मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि आजादी के बाद देश की रक्षा हेतू अपने प्राणों का बलिदान देने वाले शहीदों की याद में दिल्ली में बना राष्ट्रीय युद्ध स्मारक देश को समर्पित होने जा रहा है। इस स्मारक का उदघाटन प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी 25 फरवरी को करेंगे। 
वित्त मंत्री ने कहा कि इस स्मारक का ऐलान 2013 में श्री नरेंद्र मोदी ने रेवाड़ी की भाजपा द्वारा आयोजित पूर्व सैनिक रैली में किया था। यह स्मारक देश की जनता की ओर से अपने शहीद सैनिकों को भावपूर्ण श्रद्धांजलि है। 
कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि यह युद्ध स्मारक आजादी के बाद से विभिन्न युद्धों में शहीद होने वाले 22600 से अधिक सैनिकों के सम्मान में बनाया गया है। उन्होंने कहा कि प्रथम विश्व युद्ध में शहीद हुए 84000 भारतीय जवानों की याद में इंडिया गेट बनवाया था। बाद में 1971 के युद्ध में शहीद हुए 3843 सैनिकों के सम्मान में अमर जवान ज्योति बनाई गई। अब सभी शहीदों की याद में यह राष्ट्रीय स्मारक बनाया गया है। कैप्टन अभिमन्यु ने कहा की केंद्र व राज्य की भाजपा सरकार सैनिकों और शहीद सैनिकों के परिजनों के कल्याण के लिए लगातार निर्णय ले रही है। उन्होंने कहा की केंद्र की भाजपा सरकार ने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में 40 साल से लटके वन रैंक वन पेंशन का तोहफा देकर भूतपूर्व सैनिकों का मान सम्मान बढाया।
कैप्टन अभिमन्यु ने कहा की मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल के नेतृत्व में हरियाणा की भाजपा सरकार ने निरंतर सैनिकों, पूर्व सैनिकों और शहीद सैनिकों के हित में निर्णय लिए हैं। हरियाणा की भाजपा सरकार ने देश की सीमाओं की रक्षा करने वाले जवानों और उनके परिवारों के लिए लगातार नीतियाँ बना रही है और उन्हें राहत दे रही है। भाजपा सरकार ने युद्ध के दौरान शहीद हुए सेना के जवानों व अद्र्धसैनिक बल के जवानों की अनुग्रह राशि 20 लाख रुपये से बढ़ाकर 50 लाख रुपये और आई.ई.डी. बलास्ट के दौरान शहीद होने पर अनुग्रह राशि 2 लाख रुपये से बढ़ाकर 20 लाख रुपये तथा पुन: बढ़ाकर 50 लाख रूपये की है। पुलिस कर्मियों की डयूटी के समय शहीद होने अनुग्रह राशि 10 लाख रुपए से बढ़ाकर 30 लाख रुपए की। युद्ध या आतंकवाद तथा अन्य घटना के दौरान घायल हुए सैनिकों को अनुग्रह अनुदान नि:शक्तता के आधार पर 50 हजार रुपये की बजाय 5 लाख रुपये, 75 हजार रुपये की बजाय 10 लाख रुपये और एक लाख रुपये की बजाय 15 लाख रुपये की राशि की गई। युद्ध या आतंकवाद तथा अन्य घटना के दौरान घायल हुए अद्र्धसैनिक बलों के जवानों के लिए अनुग्रह अनुदान नि:शक्ता के आधार पर 15 लाख रूपये, 25 लाख रूपये तथा 35 लाख रूपये की है। द्वितीय विश्व युद्ध के भूतपूर्व सैनिकों तथा विधवाओं को दी जाने वाली आर्थिक सहायता जो कांग्रेस के समय 3 हजार रुपये थी वह अब 10 हजार रुपये मासिक है। 
कैप्टन अभिमन्यु ने कहा की हरियाणा की भाजपा सरकार ने अक्टूबर 2014 से अब तक शहीद सैनिकों के 255 आश्रितों को अनुकम्पा के आधार पर सरकारी नौकरी प्रदान की है। जबकि इनेलो के छ: साल के शासन के समय 66 और कांग्रेस सरकार के समय दस साल में सिर्फ 6 शहीद सैनिकों के आश्रितों और 17 पुलिस कर्मियों के आश्रितों को सरकारी नौकरी प्रदान की गई थी।
 
Have something to say? Post your comment