Friday, April 26, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
अमित शाह की हरियाणा में ताबड़ तोड़ 2 दिन में 6 रैलियांहरियाणा सरकार ने 2018 बैच के 4 आईएएस अधिकारियों को ट्रेनिग पीरियड में जिलों में नियुक्ति कीहरियाणा पुलिस द्वारा अति वांिछंत अपराधियो के विरूद्व कार्यवाही28 साल पुराने ड्रग-पेडलिंग केस में आरोपी गिरफतार एसटीएफ ने सिरसा से किया काबूक्षेत्रवाद की राजनीति और भाईचारा खराब करने वालों को सबक सिखाना जरूरी- दिग्विजयमायके में दुष्यंत के लिए वोट मांगने पहुंची विधायक नैना चौटालाभाजपा राज में संविधान को बड़ा खतरा:हुड्डा हरियाणा की 10 लोकसभा सीटों पर 12 मई, 2019 को होने वाले मतदान के बाद उन मीडिया संस्थानों जिन्होंने चुनावों के दौरान स्वीप गतिविधियों की अच्छी कवरेज की है, उन्हें सम्मानित किया जाएगा।
National

दिल्ली में 20 हजार करोड़ के हवाला और मनी लॉन्ड्रिंग रैकेट का पर्दाफाश आयकर विभाग ने दबोचे तीन गिरोह, आरोपियों की पहचान नहीं बताई

February 12, 2019 05:31 AM

COURTESY DAINIK BHASKAR FEB 12

दिल्ली में 20 हजार करोड़ के हवाला और मनी लॉन्ड्रिंग रैकेट का पर्दाफाश
आयकर विभाग ने दबोचे तीन गिरोह, आरोपियों की पहचान नहीं बताई
छापे में 18 हजार करोड़ रुपए के फर्जी बिल मिले

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने सोमवार को हवाला कारोबार के बड़े गिरोह का भंडाफोड़ करने का दावा किया। यह गिरोह दिल्ली में करीब 20 हजार करोड़ रुपए का मनी लॉन्ड्रिंग रैकेट चला रहा था। आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि पुरानी दिल्ली के विभिन्न कारोबारी क्षेत्रों में कुछ हफ्तों के दौरान छापे मारे गए थे। इसमें हवाला कारोबार के तीन गिरोह का पता चला। हालांकि, उन्होंने आरोपियों की पहचान नहीं बताई। एक अधिकारी ने कहा कि नया बाजार इलाके में सर्वे में 18 हजार करोड़ रुपए के फर्जी बिल मिले। कई फर्जी इकाइयों के जरिए ये बिल उपलब्ध कराए जा रहे थे।
बड़ी कंपनियों के शेयर पुराने बताकर बेच रहे थे
दूसरे मामले में एक बेहद संगठित मनीलॉन्ड्रिंग गिरोह का पता चला। ये लोग बड़ी कंपनियों के शेयरों को धोखाधड़ी के जरिए वर्षों से रखे गए पुराने शेयर बताकर बेच रहे थे। इस तरीके से लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन्स का फर्जी दावा कर रहे थे। अनुमान है कि इस तरीके से एक हजार करोड़ रुपए से अधिक का घोटाला किया गया। तीसरे गिरोह के पास अघोषित विदेशी बैंक खाता पाया गया। यह निर्यात का कीमत से अधिक बिल बनाकर जीएसटी के तहत फर्जी रिफंड दावा करते थे। शुरुआती अनुमान के अनुसार ये फर्जी निर्यात 1,500 करोड़ रुपए से अधिक के हैं।
लोगों को विदेश यात्रा कराने के सबूत भी मिले
जांच दल को करीब 100 करोड़ रुपये के हस्ताक्षर किए गए और बगैर हस्ताक्षर के दस्तावेज, समझौते, अनुबंध, नकदी कर्ज और उसपर अर्जित ब्याज, वित्तीय विवादों का नकद के बदले निस्तारण और इनके एवज में पैसे लेने की रसीदें आदि मिलीं हैं। अधिकारी ने कहा, तीसरे मामले की जांच में विदेश में लोगों को विदेशी यात्रा कराने और विदेशी मुद्रा उपलब्ध कराने के भी सबूत मिले हैं।

 
Have something to say? Post your comment
 
More National News
INS विक्रमादित्य में लगी आग, एक अधिकारी की मौत अगले 2 घंटों में राजगढ़ और भरतपुर के आसपास हल्की बारिश और हवाओं का अलर्ट
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चल संपत्ति 1.41 करोड़ और अचल संपत्ति 1.10 करोड़ रुपये
10 लाख युवाओं को पंचायत में रोजगार देंगे : राहुल गांधी कांग्रेस ने तुगलक रोड चुनावी घोटाला क‍िया : पीएम नरेंद्र मोदी कांग्रेस देशद्रोह का कानून खत्म करने की बात करती है: पीएम मोदी कर्नाटक के सीएम ने देश के जवानों का अपमान किया: नरेंद्र मोदी राजनीति के खेल में सैलीब्रिटिज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नामांकन करने से पहले महिला प्रस्तावक के पैर भी छुए
PM नरेंद्र मोदी ने वाराणसी में नामांकन दाखिल किया