Friday, April 26, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
अमित शाह की हरियाणा में ताबड़ तोड़ 2 दिन में 6 रैलियांहरियाणा सरकार ने 2018 बैच के 4 आईएएस अधिकारियों को ट्रेनिग पीरियड में जिलों में नियुक्ति कीहरियाणा पुलिस द्वारा अति वांिछंत अपराधियो के विरूद्व कार्यवाही28 साल पुराने ड्रग-पेडलिंग केस में आरोपी गिरफतार एसटीएफ ने सिरसा से किया काबूक्षेत्रवाद की राजनीति और भाईचारा खराब करने वालों को सबक सिखाना जरूरी- दिग्विजयमायके में दुष्यंत के लिए वोट मांगने पहुंची विधायक नैना चौटालाभाजपा राज में संविधान को बड़ा खतरा:हुड्डा हरियाणा की 10 लोकसभा सीटों पर 12 मई, 2019 को होने वाले मतदान के बाद उन मीडिया संस्थानों जिन्होंने चुनावों के दौरान स्वीप गतिविधियों की अच्छी कवरेज की है, उन्हें सम्मानित किया जाएगा।
Punjab

जीरकपुर:एक लाख रुपए का ईनामी और तीन राज्यों के मोस्ट वांटेड गैंगस्टर अंकित भादू का एनकाउंटर

February 07, 2019 09:49 PM

जीरकपुर:राजस्थान के अलावा हरियाणा व पंजाब के मोस्ट वांटेड गैंगस्टर अंकित भादू का पुलिस ने बुधवार को एनकाउंटर कर दिया। वहीं, उसके दो साथियों को गिरफ्तार कर लिया। यह एनकाउंटर चंडीगढ़ में जीरकपुर में ऑर्गेनाइज्ड क्राइम यूनिट की स्पेशल पुलिस टीम ने किया। सबसे खास बात है कि राजस्थान के डीजीपी कपिल गर्ग ने एनकाउंटर के एक दिन पहले ही 6 फरवरी को अंकित भादू को पकड़ने, उसके बारे में सूचना देने या गिरफ्तारी में मदद देने वाले व्यक्ति को 1 लाख रुपए का ईनाम देने की घोषणा की थी।

जानकारी के अनुसार बुधवार देर शाम को पंजाब में पुलिस और अंकित भादू के बीच मुठभेड़ हो गई। इसमें अंकित की गोली लगने से मौत हो गई। बताया जा रहा है कि भादू के साथ मुठभेड़ में दो पुलिसकर्मी भी जख्मी हुए है। वहीं, अंकित की गैंग में शामिल बदमाशों के भी घायल होने की खबर है।सूत्रों के अनुसार चंडीगढ़ के समीप जीरकपुर में पीर मुछला में अंकित और पंजाब की संगठित अपराध सेल के बीच मुठभेड़ हुई थी। जिसमें पुलिस ने पीरमुछला को चारों तरफ से घेर लिया। इसके बाद पुलिस और बदमाशों के बीच फायरिंग हुई।

जिसमें अंकित की गोली लगने से मौत हो गई.वहीं, राजस्थान की बात करें तो अंकित भादू हरियाणा के हार्डकोर बदमाश लारेंस विश्नोई गैंग का मुख्य सहयोगी था। अंकित के खिलाफ श्रीगंगानगर में लगभग 15 मुकदमे दर्ज है। इनमें दो केस हत्या से जुड़े बताए जा रहे है। कुछ माह पहले दूसरी गैंग के हार्डकोर बदमाश जॉर्डन हत्याकांड का मुख्य सूत्रधार भी अंकित भादू ही था।गत 12 अगस्त को श्रीगंगानगर के सादुलशहर में अंकित भादू की पुलिस से मुठभेड़ हुई थी। इसके बाद वह फायरिंग करते हुए फरार हो गया था। तब अंकित पर राजस्थान पुलिस ने 50 हजार रुपए का ईनाम घोषित किया था। इसके बाद 6 फरवरी, बुधवार को ही राजस्थान के डीजीपी कपिल गर्ग ने अंकित भादू पर 1 लाख रुपए का ईनाम घोषित किया था।

 

 
Have something to say? Post your comment