Friday, March 22, 2019
Follow us on
Haryana

FARIDABAD-स्वाइन फ्लू : 8 मामलों की पुष्टि, संभावितों का आंकड़ा 28 पहुंचा, विभाग की टेंशन बढ़ी

January 11, 2019 05:41 AM

COURTESY DAINIK BHASKAR JAN 11

स्वाइन फ्लू : 8 मामलों की पुष्टि, संभावितों का आंकड़ा 28 पहुंचा, विभाग की टेंशन बढ़ी

शहर में स्वाइन फ्लू दस्तक दे चुका है। स्वास्थ्य विभाग ने स्वाइन फ्लू के 8 मामलों की पुष्टि कर दी है। विभाग की ओर से भेजे गए सैंपलों की रिपोर्ट आ गई है। इसमें 8 मामले पाॅजीटिव आए हैं। इसके बाद विभाग की टीमें सक्रिय हो गई है। टीमों को मरीजों से संबंधित क्षेत्रों में भेजा गया है। इसके अलावा मरीजों का फॉलोअप किया जा रहा है। विभाग के अनुसार सभी मरीजों की हालत सामान्य है। विभाग के पास लगातार नए संभावित मामले आ रहे हैं। ऐसे में विभाग की टेंशन बढ़ी हुई है।
लगातार बढ़ रहा है संभावित मरीजों का ग्राफ, विभाग की ओर से भेजे गए सैंपल में से आठ की रिपोर्ट पाॅजीटिव
बीके सिविल अस्पताल में तैयार है आइसोलेशन वार्ड
बढ़ते मामलों को देखते हुए विभाग की ओर से आइसोलेशन वार्ड तैयार करा दिया गया है। बीके सिविल अस्पताल में 10 बेड का अस्पताल बनाया गया है। जिससे आने वाले मरीजों का तुरंत प्रभाव से उपचार शुरू किया जा सके। इसके अलावा मरीजों के लिए दवा व मास्क का भी पूरा प्रबंध कर लिया गया है।
बीमारी को लेकर रहें अलर्ट: स्वाइन फ्लू जिले में पैर पसार चुका है। ऐसे में आप भी अलर्ट रहें। स्वाइन फ्लू के लक्षण व बचाव के बारे में हर किसी को जानकारी होनी चाहिए। जिससे स्वाइन फ्लू को फैलने से रोका जा सके। इससे बचाव किया जा सके। इसके अलावा ऐसा कोई मरीज दिखे तो उसे तुरंत जांच कराने का परामर्श दें।
बढ़ गई विभाग की टेंशन
अभी तक विभाग के सामने लगातार संभावित मामले ही आ रहे थे। ऐसे में विभाग राहत की सांस ले रहा था। अब जांच में स्वाइन फ्लू के 8 मामलों की पुष्टि हो गई है। इसके बाद विभाग की टेंशन बढ़ गई है। गुरुवार को स्वाइन फ्लू के पांच संभावित मामले और आए हैं। इसके बाद संभावित मरीजों की संख्या 28 पहुंच गई है। इन सैंपलों को जांच के लिए लैब भेजा गया है। रिपोर्ट आने के बाद ही इन मामलों की पुष्टि की जाएगी। सभी मामले प्राइवेट अस्पतालों से हैं।
ये हैं स्वाइन फ्लू के लक्षण
नाक का लगातार बहना, छींक आना, नाक जाम होना।
मांसपेशियों में काफी दर्द या अकड़न महसूस करना, सिर में तेज दर्द।
कफ और कोल्ड, लगातार खांसी आना।
नींद नहीं आना, बहुत ज्यादा थकान महसूस होना।
बुखार होना, दवा खाने के बाद भी बुखार का लगातार बढ़ना।
गले में खराश होना और इसका लगातार बढ़ते जाना।
इन लोगों को अधिक खतरा
छह माह से चार वर्ष की उम्र तक।
50 वर्ष से ज्यादा की उम्र होने पर।
पहले से किसी बीमारी की दशा में।
विभाग के पास स्वाइन फ्लू से निपटने के लिए पर्याप्त इंतजाम हैं
जांच में स्वाइन फ्लू के 8 मामलों की रिपोर्ट कंफर्म आई है। मरीजों की हालत ठीक है। हमारी टीम लगातार फॉलोअप कर रही है। इसके अलावा पांच संदिग्ध मामले भी आए हैं। इन्हें जांच के लिए लैब भेजा गया है। लोगों को स्वाइन फ्लू से घबराने की जरूरत नहीं है। बस लोग जागरूक रहें। बचाव करें। अगर किसी को स्वाइन फ्लू के लक्षण दिखाई देते हैं तो तुरंत डॉक्टर से परामर्श लें। विभाग के पास स्वाइन फ्लू से निपटने के लिए पर्याप्त इंतजाम हैं। -डाॅ. रामभगत, डिप्टी सिविल सर्जन, स्वास्थ्य विभाग।

 
Have something to say? Post your comment