Sunday, January 20, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
गुस्ताखी माफ हरियाणा ने की छत्रपति के नाम पर सालाना पत्रकार पुरस्कार की घोषणाइनेलो विधायक संधू के निधन के बाद अभय चौटाला के हरियाणा विधानसभा में विपक्ष के नेता पर संशय ?जवानों में मिली ऑपरेशन श्रीमान की एक झलक --ठंड में भी नाईट डोमेशन के दौरान पुलिस रही अलर्टयोगी सरकार कुंभ पर पैसों की बर्बादी कर रही है: ओमप्रकाश राजभरकोलकाता: मोदी और शाह के इरादे बहुत खतरनाक- अरविंद केजरीवालमनोहर लाल ने पिहोवा से विधायक श्री जसविंद्र सिंह संधू के निधन पर गहरा दुख व्यक्त कियाहरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने गुजरात में रखी हरियाणा भवन की आधारशिलाकोलकाता: सपा-बसपा गठबंधन से देश में खुशी की लहर -अखिलेश यादव
Haryana

ROHTAK-शपथ ग्रहण के बाद 20 मिनट तक कमरे के लिए भटकते रहे रोहतक मेयर, जॉइंट कमिश्नर के रूम की नेम प्लेट उतारकर कुर्सी पर बैठाया मनमोहन गोयल बोले- नगर निगम कार्यालय में ही बैठूंगा

January 11, 2019 05:20 AM

COURTESY DAINIK BHASKAR JAN11

शपथ ग्रहण के बाद 20 मिनट तक कमरे के लिए भटकते रहे रोहतक मेयर, जॉइंट कमिश्नर के रूम की नेम प्लेट उतारकर कुर्सी पर बैठाया
मनमोहन गोयल बोले- नगर निगम कार्यालय में ही बैठूंगा
भास्कर न्यूज | राेहतक
नगर निगम चुनाव जीतने के 21 दिन बाद भी अधिकारी मेयर मनमोहन गोयल के बैठने के लिए कमरा तैयार नहीं करवा पाए। गुरुवार को शपथ लेने के बाद भाजपा के मेयर मनमोहन गोयल को निगम कार्यालय में बैठने के लिए 20 मिनट तक कमरा नहीं मिल सका। वे एक कमरे से दूसरे कमरे में भटकते रहे। आनन-फानन में जॉइंट कमिश्नर के कमरे की नेम प्लेट उतार कर मेयर को अस्थायी तौर पर वहां बैठाया गया। पहले मेयर का ऑफिस आेल्ड एडीसी कार्यालय में होता था, लेकिन मेयर मनमोहन गोयल ने साफ कह दिया कि वे नगर निगम कार्यालय में ही बैठेंगे। इसके बाद एक स्टोर रूम को तोड़कर उसको तैयार किया जा रहा है। उसमें अटैच बाथरूम का निर्माण शुरू करवाया गया है।
गुरुवार को शपथ ग्रहण समारोह के बाद समर्थक मेयर मनमोहन गोयल से जिद करने लगे कि वे निगम के अंदर कुर्सी पर बैठकर फोटो सेशन करवाएं। पहले प्रथम तल पर स्थित जॉइंट कमिश्नर कार्यालय में चले गए। वहां जेसी की कुर्सी पर बैठने से गोयल ने इंकार कर दिया तो ठीक सामने निगम कमिश्नर के कार्यालय में मेयर के साथ लोग पहुंचे। यहां भी मनमोहन ने यह कहते हुए मना कर दिया कि बिना अधिकारियों के कहे वे कमिश्नर की कुर्सी पर नहीं बैठ सकते और 12 मिनट तक खड़े रहे।
डैमेज कंट्रोल के लिए डीटीपी केके वार्ष्णेय उन्हें दोबारा जॉइंट कमिश्नर के कार्यालय में ले गए। वहां गोयल कुर्सी पर बैठे और लगभग 25 मिनट तक रुके। बाहर उनके नाम की नेम प्लेट भी बदलवाई गई। एसडीएम सदर राकेश कुमार के पास निगम के जॉइंट कमिश्नर का अतिरिक्त कार्यभार है। वे एसडीएम के कार्यालय से भी काम कर लेते हैं।

 
Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
गुस्ताखी माफ हरियाणा ने की छत्रपति के नाम पर सालाना पत्रकार पुरस्कार की घोषणा इनेलो विधायक संधू के निधन के बाद अभय चौटाला के हरियाणा विधानसभा में विपक्ष के नेता पर संशय ?
जवानों में मिली ऑपरेशन श्रीमान की एक झलक --ठंड में भी नाईट डोमेशन के दौरान पुलिस रही अलर्ट
मनोहर लाल ने पिहोवा से विधायक श्री जसविंद्र सिंह संधू के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया
अब हरियाणा में पुलिस इंस्पेक्टरों की तैनाती और तबादले पुलिस स्थापना कमेटी तय करेगी
हिसार पुलिस का अनोखा कारनामा
HR CM CITY KARNAL-प्रशासन ने टेके घुटने, विवाद बढ़ने पर शाम को पहुंचे एसपी, नहीं माने पीड़ित, बोले-हमें दिलासा नहीं, गिरफ्तारी चाहिए NARINGARH- वित्तीय संकट में नपा, न मिल रहा अस्थाई कर्मियों को वेतन और न ही स्ट्रीट लाइट का बिल भरा लापरवाही : पांच महीने से नहीं हुई नपा की बैठक, बकाया वसूलने में भी असफल साबित हुए अफसर RAILWAYS-यात्रियों को खाने का बिल नहीं दिया तो फ्री देना होगा भोजन नो बिल फ्री फूड पॉलिसी : आईआरसीटीसी के आदेशों के बाद स्टॉल संचालकों ने वेंडरों को दिए नि कंडेला-28 पर टिकी निगाहें : 5 घंटे के अंतराल में खट्‌टर-हुड्‌डा समेत सभी दल पहुंचे कंडेला गांव कंडेला के घर समर्थक बोले- टेकराम को राज्यसभा भेजो या राज्यपाल बनाओ