Saturday, September 21, 2019
Follow us on
 
Haryana

गीता से बडा कोई ग्रन्थ नहीं -डॉ बनवारी लाल

December 18, 2018 04:13 PM

 हरियाणा के जनस्वास्थ्य अभियान्त्रिकी मंत्री डॉ बनवारी लाल ने कहा है कि गीता भारतीय संस्कृति की आधारशिला है तथा हिन्दू शास्त्रों में गीता का पहला स्थान है इसमें 18 पर्व और 700 श्लोक है गीता महाभारत के भीष्म पर्व का ही एक अंग है।
    डॉ बनवारी लाल आज यहां बाल भवन में जिला स्तरीय गीता जयंती महोत्सव के तीसरे दिन प्रात:कालीन सत्र का रिबन काटकर शुभारंभ करने उपरांत समारोह में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि ग्रंथो की लोकप्रियता में गीता से बढकर कोई दूसरा ग्रन्थ नहीं है। गीता में अत्यन्त प्रभावशाली ढंग से धार्मिक सहिष्णुता की भावना को प्रस्तुत किया गया है जो भारतीय संस्कृति की एक विशेषता है। उन्होंने बताया कि धर्मक्षेत्र कुरुक्षेत्र में कौरवों और पांडवों के मध्य युद्ध में अर्जुन अपने स्वजनों को देखकर युद्ध से विमुख होने लगा। धर्मयुद्ध के अवसर पर शोकमग्न अर्जुन को गीता का उपदेश देते हुए श्रीकृष्ण ने कहा कि व्यक्ति को निष्काम भाव से कर्म करते हुए फल की इच्छा नहीं करनी चाहिए।
    मंत्री ने कहा कि गीता की रचना कुरूक्षेत्र में हुई इससे हरियाणा का नाम विश्व में भी जाना गया है। गीता हमे जीना, आगे बढना और सच्चाई की ओर ले जाती है। मंत्री ने कहा कि गीता के उपदेश सुनकर हमें अपने जीवन में डालने चाहिए। उन्होंने कहा कि मानव को शांत स्वभाव से जीना चाहिए क्रोध के कारण हम अपनी तर्क शक्ति को खो बैठते है। उन्होंने कहा कि गीता का उपदेश हमे यह बताता है कि आत्मा अनश्वर है यह समय समय पर पुराने शरीर को छोडकर नये शरीर में प्रवेश कर जाती है।
    गीता जयंती महोत्सव में गुरूकुल घासेडा द्वारा भव्य योग प्रदर्शन, राजकीय विद्यालय बूढपुर, द्वारा गीता श्लोकोच्चारण, राजकीय विद्यालय खोरी द्वारा गीता-सार, राजकीय विद्यालय जाडरा द्वारा श्री कृष्ण-अर्जुन संवाद सहित एवं अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये। गुजर घटाल के विद्यार्थी नामत: मनवीर व महेन्द्र ने सक्षम हरियाणा पर रागिनी प्रस्तुत की।  राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय रेवाडी व गढी बोलनी स्कूल की छात्राओं ने सामूहिक नृत्य की शानदार प्रस्तुति दी। सरदार मिलाप सिंह प्रीतपाल ने अपने साथियो सहित गुरूवाणी की प्रस्तुति दी, वहीं उषा आर्य ने गीता पर अपने विचार रखे।
    इस अवसर पर मंत्री ने विभिन्न विभागो द्वारा लगाई गई प्रदशर्नी का अवलोकन भी किया तथा यहां पर प्रदर्शित उत्पादो व योजनाओ की जानकारी ली। मंत्री ने सांस्कृतिक कार्यक्रम करने वाले बच्चो को पुरस्कृत भी किया।
    इस अवसर पर उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा ने मंत्री डॉ बनवारी लाल को स्मृति चिह्न भेंट किया।
    डॉ बनवारी लाल ने इस मौके पर आयोजित शोभा यात्रा के शुभारंभ के समय मंत्री डॉ बनवारी लाल व उपायुक्त ने गीता की पूजा की तथा इस शोभा यात्रा को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। इस शोभा यात्रा में श्री कृष्ण द्वारा अर्जुन को दिये जा रहे उपदेश की शानदार झाकीं एवं गीता शलोको के बैनर इस झांकी को भव्य रूप दे रहे है। शोभा यात्रा के दौरान नृत्य करती घोडी व ऊंट लोगों के लिए आकर्षण का केन्द्र बने रहे। बीन बांसुरी व बैण्ड की मधुर ध्वनि कार्यक्रम में अपनी छठा बिखेर रही थी। इस अवसर पर शहर में जगह-जगह भव्य द्वार बनाये गये थे।
    इस अवसर पर डीसी अशोक कुमार शर्मा, एडीसी प्रदीप दहिया, एसडीएम जितेन्द्र, सीटीएम डॉ विरेन्द्र सिंह, तहसीलदार मनमोहन, दलीप शास्त्री, अजय मितल, रिपू दमन गुप्मा, चांदनी चांदना, रामपाल यादव, ग्लोबल ज्ञान एवं प्रेरण संगठन के सदस्य नवीन अरोडा सहित अन्य गणमान्य लोग भी उपस्थित थे। 

Have something to say? Post your comment