Saturday, March 23, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
मातनहेल गांव से बजेगा लोकसभा का चुनावी बिगुल : ओम प्रकाश धनखड़ राजनीतिक दलों और चुनाव लडऩे वाले उम्मीदवारों द्वारा इन निर्देशों का कड़ाई से पालन किया जाना चाहिए:डॉ० इन्द्र जीतमतदान केंद्रों पर सभी सुविधाएं सुनिश्चित करें:राजीव रंजन दिल्ली: रेस्टोरेंट के ट्रीटमेंट प्लांट की सफाई के दौरान फंसे मजदूर निकाले गएदिल्ली: दिलशाद गॉर्डन में एक पेपर फैक्ट्री में लगी आग, दमकल की गाड़ियां मौके पर पूर्व पीएम एचडी देवगौड़ा कर्नाटक की तुमकुर लोकसभा सीट से लड़ेंगे चुनावअभय चौटाला ने नेता प्रतिपक्ष के पद से दिया इस्तीफ़ा केरल कांग्रेस ने राहुल गांधी से की अपील, वयनाड लोकसभा सीट से लड़ें चुनाव
Haryana

त्रिपुरा के राज्यपाल ने विराट संत सम्मेलन का किया शुभारम्भ

December 16, 2018 09:14 PM
त्रिपुरा के राज्यपाल प्रोफेसर कप्तान सिंह सोलंकी, राज्यमंत्री कृष्ण कुमार बेदी व गीता मनीष स्वामी ज्ञानांनद ने विराट संत सम्मेलन का शुभारम्भ किया। सभी संतों ने एक स्वर में पवित्र ग्रंथ गीता को राष्टï्रीय ग्रंथ घोषित करने की आवाज को बुलंद किया।  
 
र्मनगरी कुरुक्षेत्र में रविवार को त्रिपुरा के राज्यपाल प्रोफेसर कप्तान सिंह सोलंकी, राज्यमंत्री कृष्ण कुमार बेदी व गीता मनीष स्वामी ज्ञानांनद ने विराट संत सम्मेलन का शुभारम्भ किया।सभी संतों ने एक स्वर में पवित्र ग्रंथ गीता को राष्टï्रीय ग्रंथ घोषित करने की आवाज को बुलंद किया। देश-विदेश के महान संतों ने पवित्र ग्रंथ गीता पर चिंतन-मंथन किया। इस दौरान राज्यमंत्री कृष्ण कुमार बेदी ने राज्य सरकार की तरफ से सभी संतों और विद्ववान लोगों का स्वागत करते हुए सभी संत जनों का परिचय करवाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल की सोच है कि पवित्र ग्रंथ गीता का ज्ञान दुनिया के प्रत्येक व्यक्ति तक पहुंचे और इस कार्य को विद्ववान जन सहजता से कर पाएंगे। इसलिए अंतर्राष्टï्रीय गीता महोत्सव पर एक विशाल संत सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है। इस सम्मेलन में सभी संतों ने पवित्र ग्रंथ गीता को राष्टï्रीय ग्रंथ घोषित करने की मांग करते हुए कहा कि भगवान श्रीकृष्ण ने कुरुक्षेत्र की धरा पर जो स्वर बोले वह गीता का पाठ बने, भगवान श्रीकृष्ण की वाणी आज भी कण-कण में विद्वमान है।

त्रिपुरा के राज्यपाल ने जयराम विद्यापीठ में पांचवें वर्ष भी सामूहिक विवाह समारोह में शामिल होने के वायदे को भी पूरा किया। राज्यपाल प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी ने 28 नवविवाहित जोड़ों को आशीर्वाद दिया। धर्मनगरी कुरुक्षेत्र में  जयराम विद्यापीठ ने गीता जयंती आयोजन का एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है। इसी वजह से कुरुक्षेत्र को एक नई पहचान मिली है। यह विचार त्रिपुरा के राज्यपाल प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी ने गीता जंयती के अवसर पर जयराम विद्यापीठ में आयोजित सामूहिक विवाह समारोह में व्यक्त किये। इस मौके पर राज्यपाल ने विद्यापीठ में सामूहिक विवाह समारोह में नवविवाहित 28 जोड़ों को आशीर्वाद देकर उनके सुखद दाम्पत्य जीवन की कामना की। इस मौके पर राज्यपाल द्वारा कुरुक्षेत्र के गांव अमीन फतुहपुर के 103 वर्षीय वैद्य शादी लाल को सम्मानित किया गया जिन्होंने अपना जीवन आयुर्वेद को समर्पित किया हुआ है और लोगों का उपचार कर रहे हैं। वैद्य शादी लाल पांच भाषाओं के ज्ञाता होने के साथ साथ गीता के भी प्रकांड विद्वान हैं।
 
Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
मातनहेल गांव से बजेगा लोकसभा का चुनावी बिगुल : ओम प्रकाश धनखड़ राजनीतिक दलों और चुनाव लडऩे वाले उम्मीदवारों द्वारा इन निर्देशों का कड़ाई से पालन किया जाना चाहिए:डॉ० इन्द्र जीत मतदान केंद्रों पर सभी सुविधाएं सुनिश्चित करें:राजीव रंजन अभय चौटाला ने नेता प्रतिपक्ष के पद से दिया इस्तीफ़ा रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ट्वीट करके खट्टर सरकार पर निशाना साधा Modi my inspiration: Ex-ADGP from TN in Hry poll race BJP to stick to 4 MPs, may field Yogeshwar Dutt HUDA debt burden stands at more than ₹19,000 crore, finds RTI query HARYANA- औचक निरीक्षण में निगम के 90 फीसदी अफसर और कर्मचारी नदारद मिले पारिवारिक लड़ाई बढ़ने का तर्क देकर भाजपा का दामन थाम रहे इनेलाे नेता इनेलो का घटता कुनबा : दोफाड़ होने से लगातार पार्टी छोड़ रहे विधायक-पूर्व विधायक