Friday, April 19, 2019
Follow us on
Education

एक नई शुरुआत: दीपालय स्कूल, कालकाजी एक्सटेंशन द्वारा एनसीसी यूनिट का उद्घाटन

December 15, 2018 04:54 PM

छात्रों के बीच राष्ट्रीय अखंडता और देशभक्ति के मूल्यों को लागू करने के उद्देश्य से भारतीय सेना के नेशनल कैडेट कॉर्प्स (एनसीसी) का एक नव निर्मित यूनिट का उद्घाटन आज दीपालय स्कूल, कालकाजी एक्सटेंशन (डीएसकेई) में किया गया। मेजर जनरल अजय सेठ, अतिरिक्त महानिदेशक, एनसीसी, जो उद्घाटन समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे, ने स्कूल के एनसीसी यूनिट के हेड बॉय को एनसीसी ध्वज सौंपकर पहल शुरू की।

कार्यक्रम की शुरुवात 11 बजे हुआ; दीपक प्रज्वलन और छात्रों द्वारा प्रार्थना गीत के साथ। श्री ए जे फिलिप, सचिव और मुख्य कार्यकारी, दीपालय और स्कूल के प्रबंधक ने मेहमानों का स्वागत किया। इसके बाद, मुख्य अतिथि द्वारा स्कूल ध्वज फहराया गया।

उनके संबोधन में, मेजर जनरल अजय सेठ ने स्कूल के छात्रों से "अनुशासन" और "एकता" के महान मूल्यों का पालन करने के लिए छात्रों को प्रेरित किया, और राष्ट्र निर्माण में उन्हें योगदान देने के लिए कहा। उन्होंने उल्लेख किया कि देशभक्ति और सामुदायिक सेवा के विचार छात्रों को देना बहुत ज़रूरी है। उन्होंने निरक्षरता के उन्मूलन की और दीपालय के महान प्रयासों की सराहना भी की।

इस अवसर पर श्री टीएम अब्राहम, अध्यक्ष व संस्थापक सदस्य, डीएसकेईश्रीमती वसंथा कुट्टी, अकादमिक डायरेक्टर, डीएसकेईकर्नल एसवीएस यादवग्रुप कैप्टन टीएसएस कृष्णा और एनसीसी के वरिष्ठ रैंकों में कुछ अन्य सेना अधिकारी भी उपस्थित थे ।

स्कूल के छात्रों ने नृत्य और गीत प्रदर्शन किया। एनसीसी यूनिट के छात्र कैडेटों ने स्कूल के मैदानों में एक मार्च पास्ट भी किया। यह समारोह श्री सी पी डेविस, प्रिंसिपल, डीएसकेई द्वारा धन्यवाद देते हुए, राष्ट्रीय गान के साथ समाप्त हुआ।

दीपालय स्कूल कालकाजी एक्सटेंशन के बारे में

 

दीपालय स्कूल कालकाजी एक्सटेंशन एक सह-शैक्षणिक, वरिष्ठ-माध्यमिक विद्यालय है जो सीबीएसई बोर्ड से संबद्ध है। यह लगभग २० वर्षों तक अस्तित्व में रहा है, लेकिन अक्टूबर 2008 में शिक्षा निदेशालय से इसे मान्यता मिली, और 2013 से वरिष्ठ माध्यमिक स्तर (कला और वाणिज्य धारा) में अपग्रेड किया गया। यह स्कूल गुणवत्तापूर्ण, मूल्य-आधारित शिक्षा प्रदान करता है आसपडोस के समुदायों के वंचित बच्चों के लिए, और सभी विद्यार्थियों को सीखने और देश के विकास में योगदान करने के अवसर प्रदान करता है।

 

दीपालाय के बारे में

 

दीपालाय एक आईएसओ 9001:2008 प्रमाणित गैर-सरकारी संगठन है जो आत्मनिर्भरता को सक्षम करने में विश्वास करता है और महिलाओं और बच्चों पर विशेष ध्यान देने के साथ शहरी और ग्रामीण गरीबों को प्रभावित करने वाले मुद्दों पर काम करने के लिए प्रतिबद्ध है।

यह गैर-सरकारी संगठन 16 जुलाई, 1979 को सात संस्थापक सदस्यों द्वारा शुरू किया गया था और तीन से अधिक दशकों से निरक्षरता के विरूद्ध धर्मयुद्ध में योगदान दे रहा है। वर्षों से दीपालय ने शिक्षा (औपचारिक/गैर-औपचारिक/उपचारात्मक), महिला सशक्तिकरण (प्रजनन स्वास्थ्य, एसएचजी, माइक्रो-फाइनेंस), संस्थागत देखभाल, सामुदायिक स्वास्थ्य, व्यावसायिक प्रशिक्षण आदि के क्षेत्रों में कई परियोजनाएं चलायी हैं। हमारी परियोजनाएं दिल्ली, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, महाराष्ट्र, और तेलांगना में चल रही हैं।

 
Have something to say? Post your comment
 
More Education News
इंजीनियरिंग के लिए स्कॉलरशिप टैस्ट 28 अप्रैल को
अम्बाला कालेज आफ इंजीनियरिंग में ज्वांयट कैंपस प्लेसमेंट ड्राइव आयोजित
हसमुख अधिया गुजरात केंद्रीय विश्वविद्यालय के चांसलर नियुक्त किए गए
दीपालय स्कूल घुसपैठि के छात्रों ने वार्षिक दिवस समारोह के दौरान दिया एक सामाजिक संदेश
यूपी बोर्ड इंटर- हाईस्कूल परीक्षा आज से, 25 अप्रैल तक रिजल्‍ट की उम्‍मीद रजनीकांत ने तमिलनाडु के पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष थिरुनावुकारसु से मुलाकात की हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड, भिवानी में 32 कर्मचारियों एवं अधिकारियों की पदोन्नति की गई है जिसमें एक अधिकारी को उप सचिव, 5 सहायक सचिव, 22 अधीक्षक एवं तीन को क्लर्क पद पर पदोन्नत किया गया
पी के आर स्कूल में एकाग्रता व स्मरण शक्ति बढ़ाने हेतु छात्रों के लिए लगाया प्रशिक्षण शिविर
सरकारी स्कूलों में एक से 15 जनवरी तक रहेगी छुट्टियां, आदेश जारी
परिवर्तन स्पेशल स्कूल (पीओ आरडीएसी) सफदरजंग एन्क्लेव में बच्चों के लिए खेल आयोजित किया