Monday, June 17, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
भाजपा राज में सबसे ज्यादा युवा बेरोजगार, नौकरियों में धांधली और सबसे ज्यादा पेपर लीक हुए - दुष्यंत चौटालाआज से नए आयकर नियम; डिफाल्टर सिर्फ जुर्माना देकर बच नहीं सकतेJ& K के पुलवामा में सेना के काफिले पर आतंकी हमला,WEST BENGAL -डॉक्टरों ने खत्म की हड़ताल,CHENNAI-No hotel, IT firm in Chennai shut down due to drinking water scarcity:सुप्रीम कोर्ट सरकारी अस्पतालों में डॉक्टरों की सुरक्षा और सुरक्षा की मांग करने वाली याचिका पर कल सुनवाई पिछले सप्‍ताह शनिवार को माता वैष्‍णों देवी की पवित्र गुफा में 47 हज़ार से अधिक तीर्थयात्रियों ने दर्शन किए।बिहार: औरंगाबाद में लू से मौतें, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय को दिखाए गए काले झंडे
Business

चीनी मिलों ने चालू गन्ना पिराई मौसम के दौरान अब तक 48.10 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 3.72 लाख क्विंटल चीनी का उत्पादन किया

December 14, 2018 04:41 PM
हरियाणा की सहकारी चीनी मिलों ने चालू गन्ना पिराई मौसम के दौरान अब तक 48.10 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 3.72 लाख क्विंटल चीनी का उत्पादन किया है।
        हरियाणा राज्य सहकारी चीनी मिल प्रसंघ के एक प्रवक्ता ने आज यह जानकारी देते हुए बताया कि रोहतक सहकारी चीनी मिल ने सर्वाधिक 9.36 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 70,550 क्विंटल चीनी का उत्पादन किया है, जबकि शाहबाद सहकारी चीनी मिल ने 8.38 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 67,000 क्विंटल चीनी का उत्पादन किया है। सहकारी चीनी मिल, करनाल ने 5.95 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 49,880 क्विंटल जबकि सहकारी चीनी मिल, कैथल ने 5.27 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 43,100 क्विंटल चीनी का उत्पादन किया है। इसी प्रकार, सहकारी चीनी मिल, महम ने 5.40 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 35,650 क्विंटल तथा सहकारी चीनी मिल, जींद ने 4.86 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 40,850 क्विंटल चीनी का उत्पादन किया है। 
उन्होंने बताया कि सहकारी चीनी मिल, पलवल ने 3.43 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 28,555 क्विंटल, सहकारी चीनी मिल, पानीपत ने 3.26 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 27,650 क्विंटल तथा सहकारी चीनी मिल, गोहाना ने 1.83 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 9,250 क्विंटल चीनी का उत्पादन किया है।
        प्रवक्ता ने बताया कि हैफेड चीनी मिल, असंध ने 6.23 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 45,100 क्विंटल चीनी का उत्पादन किया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश की सहकारी चीनी मिलों में अब तक की औसत शुगर रिकवरी 8.73 प्रतिशत रही है। 
 
Have something to say? Post your comment