Sunday, January 20, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
24 जनवरी को जिले के प्रियदर्शनी इंदिरा गांधी महाविद्यालय में चुनावी डयूटी पर तैनात कर्मियों की रिहर्सल करवाई जाएगीमध्य प्रदेश : मंदसौर में टायर फैक्टरी में आग, 4 मजदूर झुलसे गुजरात में 4.1 तीव्रता का भूकंप, 7 घंटे के भीतर चार हल्के झटकेमहाराष्ट्र के पालघर में 3.6 तीव्रता का भूकंप, गुजरात में भी झटकेउपराष्ट्रपति श्री एम. वेंकैया नायडू ने की हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल की कार्यशैली की प्रशंसाहरियाणा प्रदेश में उद्योग लगाने के लिए खुले मन से आएं उन्हें प्रदेश सरकार की ओर से हर तरह से अनुकूल माहौल दिया जाएगा:मनोहर लाल सोमालिया : अमेरिकी हवाई हमले में अल-शबाब के 52 आतंकवादी ढेरविपक्ष के पास धनशक्ति, हमारे पास जनशक्ति: बीजेपी कार्यकर्ताओं से बोले पीएम मोदी
Education

राष्ट्रीय इंडियन मिल्ट्री कॉलेज की परीक्षा परिणाम घोषित,भवन विद्यालय का छात्र सौम्या राय गुप्ता बना ऑल इंडिया टॉपर

November 27, 2018 07:22 PM
भवन विद्यालय सेक्टर 15 पंचकूला के 7वीं कक्षा के छात्र सौम्या राज गुप्ता (12) सेक्टर 9 निवासी ने राष्ट्रीय इंडियन मिल्ट्री कॉलेज की परीक्षा में ऑल इंडिया में पहला रैंक हासिल करके पंचकूला का नाम रोशन कर दिया है। अब सौम्या राज गुप्ता का आरआइएमसी में आठवीं कक्षा में दाखिला होगा और 12वीं कक्षा पास करने के बाद वह सीधे एनडीए में सेलेक्ट हो जाएगा। इंडियन मिल्ट्री एकेडमी (आइएमए) में ट्रेनिंग के बाद ऑफिसर बन जाएगा। परीक्षा का परिणाम घोषित होने के बाद सौम्या के परिजनों और स्कूल के शिक्षकों में खुशी की लहर है। स्कूल की प्रिंसीपल गुलशन कौर और सेक्रेटरी कुलभूषण गोयल ने बताया कि पूरे भारत से इस परीक्षा में हजारों बच्चों ने हिस्सा लिया था। जिसमें हर राज्य से एक ही छात्र का चयन होता है। पंचकूला के सौम्या राय गुप्ता ने हरियाणा से बाजी मारी। सौम्या ने पूरे भारत में पहला रैंक हासिल करके स्कूल का नाम रोशन कर दिया है। सौम्या राय गुप्ता आरआइएमसी में वर्ष 2019 बैच में बैठ जाएगा और सीधे ऑफिसर बनकर वापिस आएगा। भवन विद्यालय से सौम्या दूसरे छात्र है, जिनका चयन हुआ है, इससे पहले गुरुकांत राय का चयन हुआ था। 
सौम्या राय गुप्ता की माता सिम्मी गुप्ता ने बताया कि  राष्ट्रीय इंडियन मिल्ट्री कॉलेज देहरादून में बेटे को सारी ट्रेनिंग दी जाएगी। यह परीक्षा साल में दो बार परीक्षा होती है। हर राज्य से एक छात्र चुना जाता है। एक बैच में एक बच्चा सेलेक्ट होता है। सौम्या का यह दूसरा चांस था, जिसमें उसने ऑल इंडिया टॉप किया। सौम्या ने देहरादून में जॉर्ज इंस्टीच्यूट में ट्रेनिंग ली। 10 महीने में परीक्षा की तैयारी में वह टॉपर बना है। यह परीक्षा आइएएस की परीक्षा से कठिन होती है, क्योंकि इसमें ज्यादातर ब्रिटिश इंगलिश में ही सवाल पूछे जाते हैं। 
 
Have something to say? Post your comment
 
More Education News
पी के आर स्कूल में एकाग्रता व स्मरण शक्ति बढ़ाने हेतु छात्रों के लिए लगाया प्रशिक्षण शिविर
सरकारी स्कूलों में एक से 15 जनवरी तक रहेगी छुट्टियां, आदेश जारी
परिवर्तन स्पेशल स्कूल (पीओ आरडीएसी) सफदरजंग एन्क्लेव में बच्चों के लिए खेल आयोजित किया
अम्बाला के मुरलीधर डीएवी स्कूल के तीन बच्चों ने इंस्पायर अवार्ड स्कीम के अन्तर्गत जीता 30000 रुपये का नकद पुरस्कार
एक नई शुरुआत: दीपालय स्कूल, कालकाजी एक्सटेंशन द्वारा एनसीसी यूनिट का उद्घाटन
Singer ‘locks up’ former tenant over rent dues हरियाणाअध्यापक पात्रता परीक्षा दिसम्बर-2017 में जिन परीक्षार्थियों की अंगूठे/उंगलियों का मिलान परीक्षा केंद्र पर नहीं हो पाया था और बाद में उनको कई अवसर दिए गए फिर भी 200 परीक्षार्थी उपस्थित नहीं हुए थे, बोर्ड द्वारा ऐसे परीक्षार्थियों को एक और अंतिम अवसर दिया जा रहा है
CBSE बोर्ड 2019: जानें- किस महीने जारी होगी 10वीं-12वीं की डेटशीट
दीपालय व्यावसायिक प्रशिक्षण केंद्रों में विश्व कंप्यूटर लिटरेसी दिवस मनाया
NEET 2019 : आगे बढ़ी आवेदन की तारीख, यहां- पढ़ें पूरी डिटेल्स