Wednesday, March 20, 2019
Follow us on
Haryana

राजेश खुल्लर ने पंचकूला जिला के अंतर्गत पडऩे वाले गांव जलौली में बने शहीद कैप्टन रोहित कौशल के स्मारक पर पुष्पचक्र अर्पित कर उन्हें 23वें बलिदान दिवस पर श्रद्धांजलि अर्पित की

November 11, 2018 09:17 PM
हरियाणा के मुख्य मंत्री के प्रधान सचिव श्री राजेश खुल्लर ने पंचकूला जिला के अंतर्गत पडऩे वाले गांव जलौली में बने शहीद कैप्टन रोहित कौशल के स्मारक पर पुष्पचक्र अर्पित कर उन्हें 23वें बलिदान दिवस पर श्रद्धांजलि अर्पित की तथा उनकी शहादत को नमन किया। इससे पूर्व 18 पंजाब के बटालियन के जवानों ने शहीद कैप्टन रोहित कौशल के सम्मान में गार्ड आफ ऑनर किया तथा दो मिनट का मौन धारण किया।
इस अवसर पर जिला प्रशासन की ओर से उपायुक्त श्री मुकुल कुमार, नगर निगम के प्रशासक राजेश जोगापाल ने शहीद के स्मारक  पर पुष्प चक्र अर्पित कर उन्हें श्रद्वाजंलि दी। इसके साथ साथ पश्चिमी कमान के बिग्रेडियर के यादव, बिग्रेडियर एस बी शेख, स्टेशन हैडक्वाटर कर्नल ललित पंवार, कर्नल राजेश चौधरी तथा 18 पंजाब के कर्नल अक्षय गर्ग एवं सुबेदार सेवा सिंह व 12 आर आर के कर्नल एस मुखर्जी तथा सेना के अन्य जवानों ने भी शहीद के स्मारक  पर श्रद्वासुमन अर्पित कर उन्हें श्रद्वांजलि अर्पित की। 
 जिला सैनिक बोर्ड के सचिव कर्नल नरेश, मार्केट कमेटी बरवाला के चेयरमैन बलसिंह राणा, वाईस चेयरमैन देवीचंद, जिला शिक्षा अधिकारी एच एस सैनी, नगर निगम के कार्यकारी अधिकारी जरनैल सिंह, मण्डल अध्यक्ष सुशील सिंगला,परमजीत राणा,अमरीक सिंह सहित आसपास के गणमान्य व्यक्तियों ने भी शहीद कैप्टन रोहित कौशल के स्मारक पर पुष्पाजंलि अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। 
इसके अतिरिक्त श्रद्धांजलि समारोह में शहीद के पिता एस एस कौशल, उनकी माता वीना कौशल तथा परिवार के अन्य सदस्यों व रिश्तेदारों सहित बड़ी संख्या में गांव जलौली के लोगों  ने शहीद स्मारक पर श्रद्धांजलि अर्पित की।
उल्लेखनीय है कि शहीद कैप्टन रोहित कौशल 10 व 11 नवंबर 1995 को जम्मू कश्मीर के डोडा जिला में उग्रवादियों के साथ मुठभेड़ में देश की रक्षा करते हुए शहीद हुए थे। वे कंपनी कंमाडर थे, जिन्होंने बड़ी वीरता एवं निडरता से उग्रवादियों का सामना किया तथा सीने में गोलियां लगने के बाद भी दो उग्रवादियों को ढेर कर दिया था। भारत सरकार ने उनकी वीरता के लिए मरणोपरांत शौर्य अवार्ड से सम्मानित किया। शहीद कैप्टन रोहित की शहादत से न सिर्फ देश व उनके माता-पिता को गौरवांवित किया, बल्कि वे देश व प्रदेश के युवाओं के प्रेरणास्रोत भी बने।   
 मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजेश खुल्लर ने कहा कि शहीद कैप्टन रोहित अपने माता-पिता का इकलौता बेटा था और 27 वर्ष की आयु में आज के दिन शहीद हुए थे। उनके माता-पिता सौभाग्यशाली हैं, जिनके बेटे ने देश के लिए कुर्बानी दी और वह पूरे देश के युवाओं के लिए प्रेरणादायी बने। उन्होंने कहा कि हमें देश के ऐसे वीरों पर नाज है। ऐसे शहीदों की बदौलत हमारे देश की सीमाएं सुरक्षित हैं तथा हम विश्व के सबसे बड़े प्रजातंत्रिक देश में खुली हवा में स्वतन्त्र सांस ले  रहे है। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार शहीदों एवं उनके आश्रितों को पूरा मान सम्मान दे रही है और उनके कल्याणार्थ अनेकों कदम उठाए जा रहे है। इसके साथ साथ उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से गांवों में गौरव पट्ट बनाए गए है। इन गौरव पट्टों पर गांवों के इतिहास की गौरवमय गाथा लिखी गई है ताकि आने पीढियों को  इतिहास के बारे में जानकारी मिल सके ।  
 
Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
‘चप्पल’ सबकी साथी, पूरी उम्र देगी आपका साथ- दिग्विजय गठबंधन के लिए नहीं, विलय के लिए भाजपा के आगे नतमस्तक है इनेलो - दुष्यंत चौटाला चुनाव के दौरान आयकर विभाग की रहेगी नकद लेन-देन पर नजर रंगों का यह अनूठा भारतीय त्योहार एकता और भाईचारे के बंधन को मजबूत करने का अवसर प्रदान करता है:मनोज यादव अनिल विज का राहुल और प्रियंका पर हमला- हम चौकीदार, आप पप्पू लिख लें हरियाणा: CRPF की 80वीं वर्षगांठ में शामिल हुए NSA अजीत डोभाल 10% से अधिक शोध में किया कट-कॉपी-पेस्ट तो नहीं हो पाएगी पीएचडी BJP-रोहतक से धनखड़-अरविंद पर हुई चर्चा मंत्री विज ने खेमका की तारीफ कर दिए थे 10 में 9.92 अंक, सीएम ने किए 9, कहा था- बढ़ाकर किया वर्णन,-हाईकोर्ट ने दिए टिप्पणी हटाने के निर्देश, कहा- सत्यनिष्ठा से काम करने वालों को प्रोटेक्ट करना चाहिए BJP shortlists probables for all Haryana seats