Saturday, September 21, 2019
Follow us on
 
Haryana

पुलिस बल के सहारे निजीकरण के खिलाफ रोडवेज कर्मियों के आंदोलन को दबाने की कोशिश ना करें सरकार

November 01, 2018 09:19 PM

भिवानी में रोडवेज के निजीकरण के खिलाफ चल रहे आंदोलन के समर्थन में बैठे कर्मचारियों ने जोरदार प्रदर्शन किया व बाद में कर्मचारी रोडवेज के बस स्टैंड के सामने धरना देकर बैठ गए। धरना दे रहे कर्मचारियों पर पुलिस ने बेरहमी से लाठीचार्ज किया। जो न सिर्फ निंदनीय है बल्कि सरकार की घबराहट को दर्शाता है। जिसके चलते सरकार अब पुलिस बल के सहारे प्रतिरोध की सशक्त आवाज को दबाना चाहती है।

कल मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर का काफिला फतेहाबाद जिला के भुना क्षेत्र में जहां से गुजरना था वहां पर काफी संख्या में कर्मचारीयों ने इकठ्ठा होकर विरोध किया, जिसके बाद पुलिस ने कर्मचारियों पर लाठीचार्ज कर दिया था। खबर है कि कर्मचारियों पर लाठीचार्ज मामले में अब पुलिस ने 270 लोगों पर मामला दर्ज किया है।

स्वराज इंडिया हरियाणा अध्यक्ष राजीव गोदारा ने कहा है कि रोडवेज के निजीकरण के खिलाफ आंदोलन कर रहे कर्मचारियों की आवाज सुनने की बजाय सरकार लाठी चार्ज व झूठे मुकद्दमें दर्ज कर जन हित में चल रहे प्रतिरोध को दबाने का प्रयास कर रही है ।

स्वराज इंडिया हरियाणा ने मांग की है कि राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर अपनी जिद्द छोड़ें व जनहित में इस मामले का हल निकालें । राजीव गोदारा ने कहा कि जहां एक तरफ कर्मचारीयों को आंदोलन चलाने के लिए बाध्य किया जा रहा है। वहीं जनता को भी हड़ताल के चलते भारी कठिनाइयों का सामान करना पड़ रहा है। जिसके लिए मुख्यमंत्री जिम्मेवार हैं ।

Have something to say? Post your comment