Thursday, January 17, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
छत्रपति हत्याकांड में डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम , कृष्ण लाल, निर्मल सिंह और कुलदीप सिंह को सीबीआई कोर्ट ने उम्र कैद की सजा और पचास-पचास हजार का जुर्माना भी देना होगा पत्रकार रामचंद्र छत्रपति मर्डर केस:थोड़ी देर में राम रहीम की सजा पर फैसला आने की संभावनाबुलंदशहरः गुब्बारा भरने वाले गैस सिलेंडर ब्लास्ट, एक दर्जन से ज्यादा बच्चे झुलसेपंचकूला में पत्रकार रामचंद्र छत्रपति मर्डर केसः कोर्ट में वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से जारीपत्रकार हत्याकांड: CBI ने राम रहीम को फांसी देने की मांग कीजस्टिस दिनेश महेश्वरी और संजीव खन्ना कल लेंगे SC के न्यायमूर्ति पद की शपथबीमारी का इलाज है, पर कांग्रेस नेताओं की सोच का इलाज नहीं: पीयूष गोयलPM मोदी ने वाइब्रेंट गुजरात समिट का उद्घाटन किया
Haryana

मां की ममता और महिमा अपरम्पार होती है:मनोहर लाल

September 14, 2018 04:15 PM

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि मां की ममता और महिमा अपरम्पार होती है। मां ही सृष्टि की रचयिता एवं राष्ट्र के विकास की असली धुरी होती है। मां का स्थान कोई नहीं ले सकता। मां सबको साथ लेकर परिवार एवं समाज का भला करते हुए आगे बढ़ाने की सदैव प्रेरणा देती है। बच्चे की पहली गुरुमां ही होती है।

मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने उक्त विचार आज शिक्षा मंत्री प्रो. रामबिलास शर्मा की मां गिंदोड़ी देवी के निधन पर महेंद्रगढ़ के गांव राठीवास में उनके चित्र पर पुष्पार्पित कर श्रद्धांजलि देते हुए व्यक्त किए।

उन्होंने कहा कि श्रीमती गिंदोड़ी देवी से मुझे कई बार मिलने का सौभाग्य प्राप्त हुआ था और उनका आशीर्वाद लिया था। वे धार्मिक, सामाजिक, प्रेरणादायक एवं सकारात्मक विचारों की धनी थी। मां की  कमी को कोई पूरा नहीं कर सकता।

मुख्यमंत्री ने शिक्षा मंत्री प्रो. रामबिलास शर्मा को ढाढस बंधाते हुए कहा कि धन्य हैं मां गिंदोड़ी देवी जिन्होंने 97 वर्ष तक जिन्दा रह कर प्रो. रामबिलास शर्मा को सामाजिक एवं राजनैतिक क्षेत्र में प्रेरणा एवं आशीर्वाद देकर इस मुकाम पर पहुंचाया। वे अपने पीछे भरा-पूरा परिवार छोड़ कर गई हैं। श्री मनोहर लाल ने परमपिता परमात्मा से दिवंगत आत्मा को अपने चरणों में स्थान देने की प्रार्थना की।

इस अवसर पर शिक्षा मंत्री श्री रामबिलास शर्मा ने मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल से बातचीत के दौरान कहा कि माता जी मेरे लिए प्रेरणास्त्रोत थी तथा उन्हीं के आशीर्वाद से मैं आज इस मुकाम पर पहुंचा हँू।

 
Have something to say? Post your comment